मकान से अवैध कब्जा खत्म करने की जगह लीगल नोटिस भिजवा रहा है न्यूज24 का रिपोर्टर प्रशांत देव श्रीवास्तव!

Yashwant Singh : दूसरे का मकान जबरन कब्जाए बैठे टीवी पत्रकार ने भड़ास को लीगल नोटिस भेजा है!

अरे भाई जितना दिमाग तू तीन तिकड़म में लगाता है, उतने से बहुत कम मेहनत में कहीं किराए का नया मकान खोज कर शिफ्ट हो जाता और अपनी बदनामी से निजात पाता।

पहले भड़ास पर खबर रुकवाने की कोशिश करता है। नहीं रुकती है तो अपना पक्ष / वर्जन छपवाता है। आरोप बढ़ते जाते हैं, तीखे होते जाते हैं तो अलग खबर के रूप में विस्तार से अपना पक्ष छपवाता है। फिर दिल्ली पुलिस और यूपी पुलिस के यहां जुगाड़ लगा अपने मकान मालिक को अरेस्ट कराने की साजिश करता है। यहां भी फेल होता है तो अब सुप्रीम कोर्ट के किसी वकील से मकान मालिक और भड़ास को संयुक्त लीगल नोटिस भिजवाता है।

ये आदमी पत्रकार है या बानर!

अरे भाई मुद्दा तेरे मकान कब्जाने का है। तू मकान खाली कर। कहानी खत्म। पर तेरी एनर्जी तो बिल्कुल ग़लत जगह पर लग रही। चल तू कोर्ट में ही लड़ के देख ले!

सम्पूर्ण लीगल नोटिस उपरोक्त टिप्पणी के साथ जल्द ही भड़ास पर अपलोड किया जाएगा।

टीवी पत्रकार और उसके न्यूज़ चैनल का नाम पता है न?

नाम है- प्रशांत देव श्रीवास्तव. जहां काम करता है, उस चैनल का नाम है- न्यूज़24

इन जनाब की हरकत सारे पत्रकारों और मीडिया की इज्जत की वॉट लगा रही। पर ज्यादातर पत्रकार, खासकर टीवी पत्रकार और न्यूज़24 के मालिकान चुप्पी साधे हैं! हम पत्रकार हैं तो ये हक़ किसने दिया है कि हम जिसके घर किराए पर रहें, साल बीतते बीतते उस पर कब्जा कर लें? अगर अपने घर (चौथा खम्भा) में गंध मचाने वालों के खिलाफ आज हम मीडिया वाले न बोले तो कल बाहर वाले बुरे लोगों पर किस मुंह से उंगली उठा सकेंगे? वरिष्ठ टीवी पत्रकारों, न्यूज24 के मालिकों, पत्रकार संगठनों को चाहिए कि इस प्रकरण की निष्पक्ष जांच कराकर रिपोर्ट सार्वजनिक करें ताकि हर कोई सच्चाई से वाकिफ हो सके!

ध्यानार्थ वकील साब Madan Tiwary बाबा, लीगल नोटिस का तगड़ा जवाब बनाना है। जिसे देखो मुंह उठाए लीगल नोटिस भेज देता है।

भड़ास के संपादक यशवंत सिंह की एफबी वॉल से.


इन्हें भी पढ़ें….

प्रशांत मुझे झूठे केस में फंसाना चाहता है ताकि मकान कब्जा सके : राजेश कड़वे

इस टीवी पत्रकार ने अपने ही मकान मालिक को ‘पीड़ित’ से ‘आरोपी’ बना डाला!

मकान कब्जाने के आरोपों पर न्यूज24 के पत्रकार प्रशांत देव का ये है विस्तृत जवाब, पढ़ें

प्रशांत देव सच्चे-अच्छे पत्रकार हैं तो मकान क्यों कब्जाए हैं : राजेश कड़वे


दूसरे का मकान जबरन कब्जाए बैठे टीवी पत्रकार ने भड़ास को लीगल नोटिस भेजा है! अरे भाई जितना दिमाग तू तीन तिकड़म में लगाता…

Posted by Yashwant Singh on Monday, August 5, 2019

उपरोक्त एफबी पोस्ट पर आए ढेरों कमेंट्स में से कुछ प्रमुख यूं हैं-

Abhinandan Mishra वकील साहब Defamation होता है, defemation नहीं. वकील साहब तो पहली ही लाइन में गलती कर गए, खैर जाने दीजिए.

Deepak Pandey इन्ही जैसे कुछ कुत्तों की वजह से मकान मालिक पुलिस, पत्रकार और वकील को कमरा किराए पर देने से डरते हैं। यशवंत सर इनकी बैंड बाजा के ही छोड़ना…

Yashwant Singh बैंड बजाने का काम नहीं करता। मैं केवल मीडिया जगत के भीतर की खबरों का एक अदना सा पोर्टल चलाता हूँ।

Deepak Pandey जी सर लेकिन इन्होंने ने आपको भी शामिल कर लिया मानहानि के दायरे में इसीलिए मैंने कहा कि इनको सकारात्मक जवाब देना जरूरी है।

Yashwant Singh ये सब रूटीन है। चलता रहता है। परेशान न मैं होता हूँ न आप लोग होवें।

Deepak Pandey जी सर. सत्य कभी पराजित नहीं होता है। शुभ रात्रि..

Pawan Singh ये तो ये है, इसका चैनल ऐसे दल्ले से क्या काम लेता होगा… हर समय तो ससुरा मकान, दुकान, लैमारी में ही लगा रहता होगा… ये खबर कब करता है….

Yashwant Singh प्रशांत अच्छे पत्रकार रहें हैं। अब न जाने उन्हें क्या हो गया। उम्मीद करते हैं जल्द ही सही राह पकड़ेंगे।

Pawan Singh प्यारे भाई जिस शख्स की ऐसी फितरत हो वो करता खाक अच्छा शख्स होगा….यशवंत जी! एक पूरी उम्र बीत जाती है एक घरौंदा बनाने में …उसे छीनने का ख्वाहिशमंद कितना गलीच और चीकट होगा इसको नापा नहीं जा सकता

Akhil Kumar Shukla अबे लीगल नोटिस भिजवाने का भी पैसा मारा जाएगा गलत जगह पंगा ले लिया है

Yashwant Singh न वो भिड़ा है न हम भिड़े हैं, हम दोनों अपना अपना काम कर रहें हैं। भाई!

Ramesh Chandra Rai अब पत्रकारिता के साथ ऐसे लोगों से निपटने की भी व्यवस्था कर लो। अब सिर्फ पत्रकारिता से काम नहीं चलेगा।

Yashwant Singh भाई अपन प्रेम की ही भाषा जानते हैं। मेरा न कभी कोई दुश्मन था, न है। मैं बस अपना काम करता हूँ। किसी के प्रति कभी पूर्वाग्रह नहीं रखा। प्रशांत भी अपने भाई हैं। भटक गए हैं। ये कामना करता हूँ कि वे जीवन में सत्य न्याय की लड़ाई लड़ें, खुद किसी ग़लत के हिस्से न बनें।

Ramesh Chandra Rai ठीक है

Shailendra Singh Yaani siway ghar ke Prashant ke pass sab kuchh hai. Ghar aap kabjane nahin de rahe

Arvind Mishra न जाने कितनी लीगल नोटिस हज़म कर गए हो आप। ये अच्छी बात नहीं। कुछ तो विरोधियों पर रहम करिए।

Madan Tiwary नोटिस की कॉपी भेजिए, उस जमूरे की पत्रकारिता भुलाता हूँ

Adv Deepak Vidrohi कह के लेना है क्या

Mohammed Ammar Khan हराम का खाने की आदत जो पड़ गई है।

Ziaur Rahman इस बानर की वाट लगना तय है

Sandeep Giri एक श्रीवास्तव मेरे पास भी है 2 लाख खा कर बैठा हुआ है

Shyaam Tyagi इसे ‘जानेमन जेल’ की एक दो कॉपी भी भेज दो..

Sampurnanand Dubey अरे! रे भाई सभी पत्रकार ही हैं। भटके हुए को सही रस्ता भी दिखाना हमरा फर्ज है। उसके बाद निपटिये।

Manish Dubey पगला गया है प्रशांत देव लाला

Ashish Rai Kaushik इसको पता नहीं ये किससे भिड़ा है।

Pradeep Mahajan पत्रकारिता में येल्लो जर्निलज्म हावी होता जा रहा है

Rakesh Sarna बेशर्मी की हद है।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “मकान से अवैध कब्जा खत्म करने की जगह लीगल नोटिस भिजवा रहा है न्यूज24 का रिपोर्टर प्रशांत देव श्रीवास्तव!

  • India rejuvenation initiative says:

    यशवंत सिंह जी बहुत सुलझे लगते हो क्यो कि सटीक समझदारी से सभी को जबाब दे रहे हो जीवन में इसी तरह धैर्य रखना, समय और परिस्थितियों के अनुसार संयम से काम लेना चाहिए कृष्ण के गीता का उपदेश और कृष्ण से सीख लें

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *