A+ A A-

अशोक दास (संपादक, दलित दस्तक)

मैं सार्वजनिक तौर पर कुछ कहना या लिखना नहीं चाहता था। मैं सोचता था कि एक काम हो रहा है, चलो अच्छा है। तमाम मंचों से बात होनी चाहिए, प्रसार ज्यादा होगा, लेकिन अब कुछ ज्यादा हो गया है।  मैं सार्वजनिक तौर पर कहने को मजबूर हो गया हूं, क्योंकि अब “वो” मुझसे जुड़े लोगों को ही बरगलाने लगे हैं।

असल में अभी देहरादून से मित्र हरिदास जी का फोन आया था। वो बता रहे थे कि National Dastak से फोन आया था और वो उन्हें गुमराह करने की कोशिश कर रहे थे। जाहिर है कि हरिदास जी Dalit Dastak की शुरुआत से ही हमसे जुड़े हैं सो उन्होंने फोन करने वाले को चमका दिया। ऐसा ही फोन कानपुर से शैलेन्द्र गौतम और गुजरात से विनोद भाई का भी आया था।

मैं दलित दस्तक से जुड़े सभी मित्रों को यह सूचित करता हूं कि मेरा या फिर “दलित दस्तक” का ‘नेशनल दस्तक’ से कोई संबंध नहीं है। नेशनल दस्तक गाजियाबाद के रियल स्टेट से जुड़े एक उद्योगपति सुनीत कुमार का है। हां, शुरुआत में मैं इससे जुड़ा था लेकिन जल्दी ही समझ में आ गया कि एक बिजनेस मैन और एक मिशनरी व्यक्ति साथ काम नहीं कर सकते, सो मैं अलग हो गया।

आज मुझे यह पोस्ट लिखना पड़ रहा है ताकि दलित दस्तक के पाठक सच्चाई से अवगत रहें। पत्रकार मित्रों, कृपया मुझे वहां की वकैंसी के संबंध में अपना रिज्यूम भी मत भेजिए। मुझे भेजने से कोई फायदा नहीं।

हां, मैं नेशनल दस्तक वालों से यह कहना चाहता हूं कि कम से कम कुछ मामलों में ईमानदार होना जरूरी है। मेरे अलग होने के बावजूद और लगातार आधिकारिक तौर पर ई-मेल करने और डाक से इस्तीफा भेजने के बावजूद भी आपने अपने संगठन से मेरा नाम हटाया नहीं है, इसे जल्द से जल्द हटाएं तो मेहरबानी होगी। मित्रगण खुद नीचे दिए गए लिंक को देख सकते हैं, जिसमें सामने वाले आज भी मेरे नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं।

(1) https://www.zaubacorp.com/company/DASTAK-MEDIA-PRIVATE-LIMITED/U22219DL2015PTC288348

(2) https://www.zaubacorp.com/company/DASTAK-MEDIA-FOUNDATION/U22110DL2016NPL299731

सादर

अशोक दास

संस्थापक और संपादक
''दलित दस्तक''
मैग्जीन और वेबसाइट


संबंधित खबर...

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas