A+ A A-

4 दिनों की पुलिस कस्टडी, आरोपी के साथी की तलाश जारी... मुंबई। कल्याण के एक स्थानीय डाक्टर से 7 लाख का हफ्ता मांगने के जुर्म में कल्याण पुलिस ने हिन्दी अखबार नवभारत के असिस्टेंट मैनेजर को गिरफ्तार किया है. आरोपी का नाम स्टैनली सैम्युअल विजॉन है, जो अखबार के मार्केटिंग विभाग में असिस्टेंट मैनेजर के तौर पर कार्यरत है. पुलिस ने बताया कि स्टैनली ने यहां खड़कपाड़ा के उमा हास्पिटल के डॉ. साईंनाथ बैरागी को अस्पताल की गोपनीय जानकारी सार्वजनिक करने की धमकी देकर 7 लाख रुपयों की मांग की. पहली किश्त के रूप में 2 लाख रुपए तय हुआ. डॉक्टर ने इसकी शिकायत पुलिस के हफ्ता विरोधी दस्ते से कर दी.  दस्ते ने जाल बिछाया, जहां हास्पिटल में 2 लाख रुपए लेते समय स्टैनली को रंगेहाथों दबोच लिया. पुलिस ने आरोपी से अखबार का आईडी कार्ड और कुछ दस्तावेज भी बरामद करते हुए जांच तेज कर दी है.

मुख्य आरोपी की खोजबीन में जुटी पुलिस

कल्याण पुलिस ने बताया कि आरोपी स्टैनली बीते 1 अक्टूबर से ही डॉ साईनाथ बैरागी को गोपनीय वीडियो क्लिपिंग के नाम पर ब्लैकमेल कर रहा था. हॉस्पिटल की विवादास्पद जानकारी मुख्यमंत्री के पोर्टल पर डालने की धमकी देते हुए वह 7 लाख रुपयों की मांग कर रहा था. क्राइम डिटेक्शन ब्रांच के पीआई वाघ की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह किसी के कहने पर सिर्फ कलेक्शन करने आया था. ऐसे में वह कौन था, जिसके कहने पर स्टैनली लाखों रुपये की वसूली करने गया? क्या इससे पहले भी ऐसी एक्टार्शन की गयी है? महात्मा फुले पुलिस आरोपी स्टैनली के उस साथी की तलाश कर रही है, ताकि अखबार के नाम पर ब्लैकमेलिंग कर रहे गिरोह का पता चल सके. फिलहाल आरोपी को पहले 2 दिन की कस्टडी दी गयी है, जिसे बढ़ाकर सोमवार तक यानि अब कुल चार दिन की कर दी गयी है.

अखबार के महा प्रबंधक का रिश्तेदार है आरोपी!

इस मामले में गिरफ्तार आरोपी स्टैनली सैम्युअल विजान से जुड़ी जानकारी सोशल मीडिया पर जमकर तैर रही है. पुलिस द्वारा जब्त आरोपी के आईडी कार्ड और उससे जुड़े अखबार से इसकी तस्दीक हो गयी है कि गिरफ्तार स्टैनली नवभारत हिन्दी अखबार के महाप्रबंधक स्टीवन सिंह की पत्नी का भाई है जिसे 2016 में  खुद स्टीवन सिंह ने बतौर असिस्टैंट मैनेजर नियुक्त किया था. सूत्रों के अनुसार जनरल मैनेजर का साला होने के नाते उसे अन्य मार्केटिंग पर्सन से अधिक सुविधाएं मिलती हैं. मैनेजमेंट बड़े क्लाइंट और महत्वपूर्ण अवसरों पर स्टैनली जैसे लोगों से ही काम करवाता है जो कई गतिविधियों की ओर इशारा देता है. सूत्रों की मानें तो पुलिस इस मामले में नवभारत के महाप्रबंधक स्टीवन सिंह को गिरफ्तार कर पूछताछ कर सकती है. कहा ये भी जा रहा है कि स्टीवन सिंह अपने राजनीतिक पहचान के दम पर मामले को हर हाल में दबाने की कोशिश में लगा है. इस मामले से अखबार की छवि को भारी झटका लगा है.

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas