A+ A A-

  • Published in प्रिंट

Vinod Pathak :  पिछले दिनों राजस्थान पत्रिका में थोक के भाव प्रमोशन लेटर बांटे गए। समाचार पत्र में कार्यरत कर्मचारियों के इन प्रमोशन लेटर्स में डिजिटल डिवीजन Patrika media (india) private limited में पदोन्नति दिखाई गई। पहले सभी का वेतन Rajasthan patrika private limited के बैंक खातों से ट्रांसफर होता था, लेकिन इस बार पदोन्नत सभी कर्मचारियों का वेतन Patrika media (india) private limited से ट्रांसफर हुआ है। इशारा काफी है... मीडियाकर्मियों के लिए खबर खराब है... डिजिटल कंपनी मजीठिया वेजबोर्ड या वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट में कवर नहीं होती..

विडंबना यह है कि मल्टीटास्कर के नाम पर 15 घंटे तक काम कराया जा रहा है.. अभी जयपुर के एक बड़े अखबार ने अपने फोटो जर्नलिस्ट्स को नौकरी से हटाने का फरमान सुनाया है... मात्र दो फोटोग्राफर रखने की बात कही है... यानी रिपोर्टर ही अब फोटोग्राफर बनने जा रहा है... पत्रिका में रिपोर्टर पहले ही वीडियोग्राफर बन चुका है... प्रिंट के साथ वेब, टीवी और प्रसार तक के काम संपादकीय विभाग से कराए जा रहे हैं... पर वेतन वही एक काम का मिल रहा है... नौकरी बचाने के फेर में पत्रकारों का जमकर शोषण हो रहा है... कमाल यह है कि दर्द सभी को हो रहा है, कोई आवाज तक नहीं निकाल रहा...

पत्रकार विनोद पाठक की एफबी वॉल से.

अब PayTM के जरिए भी भड़ास की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9999330099 पर पेटीएम करें

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.

People in this conversation

  • Guest - Prem mishra

    पत्रिका जबलपुर में तो बुरा हाल है संपादक गोविंद ठाकरे इतना मालिक भक्त है की उन्हें खुश करने के लिए अपनी किसी भी सहयोगी की नौकरी खा सकता है गुरु ठाकरे जी को लगता है मालिक लोग उन्हें जल्द से जल्द मध्य प्रदेश का हेड बना देंगे इस चक्कर में वह अपने चमचों के साथमिलकर बाकी सब को परेशान कर रखा है जब प्रमोशन लेटर मिले थे तब उनका कहना था जिसको नौकरी करनी है वह करें वरना बाहर हो जाए वह यह भी कहते हैं की जिसको चाहे 1 मिनट में बाहर कर सकते हैं इनकी भी हालत लगभग इसके पहले के संपादकआलोक मिश्रा की तरह हो गई है

Latest Bhadas