Categories: सुख-दुख

संघ वाले राकेश सिन्हा ने प्रोफ़ेसर बन कर बिना पढ़ाए उठाया छह लाख पगार!

Share

संजय कुमार सिंह-

अगर आपको लगता है कि आपने पैसे कम कमाए या ज्यादा कमाए या किसी और ने ज्यादा कमाए या कोई बेचारा नहीं कमा पाया तो इस खबर को पढ़िये-पढ़ाइए। मुमकिन हो तो फ्रेम करवा कर टांग दीजिए और मान लीजिए कि देने वाला देता है तो छप्पड़ फाड़ कर देता है।

यह चिन्ता आपको नहीं करनी चाहिए कि 30 माले की बिल्डिंग में 15वे पर रहते हैं तो ऊपर वाले कितने छप्पर फाड़ेगा या आप कितनी छतें तोड़कर जमीन पर पहुंचेंगे। ऊपर वाले में भरोसा रखिए, सही लोगों को बाप और भगवान बनाइए आपका ओएनजीसी या कोई माखनलाल आपको पैसे देने के रास्ते ढूंढ़ लेगा।

इसलिए परेशान मत होइए – आका तलाशिये। हालांकि, आका किसे बनाएं, किसे कैसे चुनें इस बारे में पक्का ज्ञान मेरे पास नहीं है। देखिए मध्य प्रदेश के प्रदेश टुडे नामक अख़बार में प्रकाशित खबर-

Latest 100 भड़ास