भाई दोषी है तो कोर्ट सजा दे, इसमें मेरी क्या गलती है : रवीश कुमार

बिहार के टीवी पत्रकार संतोष सिंह से बातचीत में रवीश कुमार ने कहा कि अगर भाई दोषी है तो कोर्ट उन्हें सजा दे, इसमें मेरी क्या गलती है. पढ़िए संतोष सिंह की पूरी पोस्ट…

Santosh Singh : मतभेद होना चाहिए और किसी भी समाज में मतभेद ना हो तो समझिए वो समाज मर चुका है लेकिन मतभेद मनभेद में बदल जाये तो समझिए वो समाज अपना नैतिक मूल्य खो रहा है और फिर उसके बाद ही उस समाज का पतन शुरू हो जाता है…. जी हां, बात रवीश कुमार की कर रहे हैं. वही रवीश कुमार जो अक्सर बीजेपी और नरेन्द्र मोदी की खिंचाई करते रहते हैं.. आप इनके विचार से असहमत हों लेकिन असहमति का ये मतलब तो नहीं होनी चाहिए कि उनके चरित्र पर सवाल खड़ा करें, उन्हें गाली दें, उन्हें देशद्रोही तक कह दें….. और, इससे भी बात नहीं बने तो उनका खामियाजा उनके परिवार को भुगतना पड़ जाये… अंधेरगर्दी वाली स्थिति है क्या?

रवीश कुमार से हमारे रिश्ते हैं, जगजाहिर है, मैंने उसे कभी छुपाया भी नहीं…

कल कांग्रेस के ही एक नेता जो हमारे फेसबुक से जुड़े हुए हैं प्रवीण मिश्रा, ये एनएसयूआई के बड़े लीडर हैं, ने मेरे चैट बाक्स में ‘रवीश कुमार के भाई सेक्स का धंधा कराते हैं’ इससे जुड़े कई लिंक और टाइम्स आफ इंडिया अखबार का लिंक भेजा, साथ ही मुझसे कहा कि ये खबर क्यों नहीं चल रही है… क्यों मीडिया वाले खामोश हैं… मुझे बहुत गुस्सा आया… मैंने कहा- टाइम्स आफ इंडिया क्या है, कोई साक्ष्य हो तो दीजिए… देखिए कैसे खबर चलती है… खैर उसके बाद वो भाग खड़े हुए…

ब्रजेश पांडेय को मैं तो ना जानता हूं और ना ही पहले कभी इनसे मुलाकात हुई है… मैंने सीधे रवीश जी को फोन किया… क्या ये सही है… उन्होंने बस इतना ही कहा- मेरी क्या गलती है जो मेरे साथ इस तरह का व्यवहार किया जा रहा है… भाई दोषी है तो कोर्ट सजा दे… बातचीत के दौरान वे उदास और निराश थे… खैर, मैंने सोचा पहले सच्चाई जान लिया जाये…

22-12-2016 को एसीएसटी थाने में एफआईआर दर्ज होता है जिसमें निखिल प्रियदर्शी उनके पिता और भाई पर छेड़छाड़ करने और पिता और भाई से शिकायत करने पर हरिजन कह कर गाली देने से सम्बन्धित एफआईएर दर्ज करायी गयी इस एफआईआर में कही भी रेफ करने कि बात नही कही गयी है..इसमें ब्रजेश पांडेय के नाम का जिक्र भी नही है,,,

24-12-2016 को पीड़िता का बयान कोर्ट में होता है धारा 164 के तहत इसमें पीड़िता ने शादी का झासा देकर रेप करने का आरोप निखिल प्रियदर्शी पर लगाती है ये बयान जज साहब को बंद कमरे में दी है इस बयान में भी ब्रेजश पांडेय का कही भी जिक्र नही है,,,,दो दिन में ही छेड़छाड़ रेफ में बदल गया

30–12–2016 को यह केस सीआईडी ने अपने जिम्मे ले लिया इससे पहले पीड़िता ने पुलिस के सामने घटना क्रम को लेकर कई बार बयान दिया लेकिन उसमें भी ब्रजेश पांडेय का नाम नही बतायी।।

31-12-2016 से सीआईडी अपने तरीके से अनुसंधान करना शुरु किया और इसके जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया गया जांच के क्रम में पीड़िता ने एक माह बाद बतायी कि एक पार्टी में ब्रेजश पांडेय मिले थे उन्होने मेरे साथ छेड़छाड़ किया… फेसबुक पर देखा तो ये निखिल के फ्रेंड लिस्ट में हैं इनको लेकर मैं अपने दोस्तों से चर्चा किया तो कहा कि ये सब लगता है सैक्स रकैट चलाता है इन सबों से सावधान रहो…. पुलिस डायरी में एक गवाह सामने आता है मृणाल जिसकी दो बार गवाही हुई है पहली बार उन्होनें ब्रेजश पांडेय के बारे में कुछ नही बताया निखिल का अवारागर्दी कि चर्चा खुब किया है उसके एक सप्ताह बाद फिर उसकी गवाही हुई और इस बार उसके गवाही का वीडियोग्राफी भी हुआ जिसमें इन्होने कहा कि एक दिन निखिल और पीड़िता आयी थी निखिल ने पीड़िता को कोल्डडिग्स पिलाया और उसके बाद वह बेहोश होने लगी उस दिन निखिल के साथ ब्रजेश पांडेय भी मौंजूद थे… मृणाल उसी पार्टी वाले दिन का स्वतंत्र गवाह है लेकिन उसमें ब्रजेश पांडेय छेड़छाड़ किये है ऐसा बयान नही दिया है…

वैसे इस मामले में बहुत कुछ ऐसा है जिसका खुलासा कर दिया जाये तो पूरा खेल एक्सपोज हो जायेगा लेकिन इससे कही ना कही निखिल को लाभ मिल जायेगा जो पीड़िता के साथ न्याय नहीं होगा…

पुलिस का अनुसंधान अभी तक यही तक पहुंचा है वैसे मेडिकल रिपोर्ट भी …..बहुत कुछ बया कर रहा है छोड़िए आप बताये क्या इसी आधार पर ब्रजेश पांडेय को दोषी मान लिया जाये फांसी चढा दिया जाये क्यों कि यूपी चुनाव के बाद ब्रजेश बिहार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष बन सकते थे इसलिए इन्हें फांसी चढा दिया जाये कि ये रवीश के भाई है… वैसे आपके पास कुछ जानकारी हो तो जरुर दिजिए क्यों कि अगर सच में सैक्स रैकेट चलाते हैं तो फिर कड़ी सजा मिलनी चाहिए।।

बिहार के टीवी पत्रकार संतोष सिंह की एफबी वॉल से.

पूरे मामले को समझने के लिए इसे भी पढ़ें…

xxx

xxx

xxx

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “भाई दोषी है तो कोर्ट सजा दे, इसमें मेरी क्या गलती है : रवीश कुमार

  • To Khabar to Chalao Dalal ji….! Modi ke Jhoothey-sachhey Khaba khoob dikhate ho, jab apni baari ayi, to dalaali karney lagey…..
    ssalaa communist/ congressi…..!!

    Reply

Leave a Reply to ss Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *