A+ A A-

इसी नवंबर महीने की पच्चीस तारीख को होने वाले प्रेस क्लब आफ इंडिया के सालाना चुनाव की गहमागहमी तेज हो गई है.  भड़ास फॉर मीडिया के संस्थापक और संपादक यशवंत सिंह ने शनिवार को अपना नामांकन दाखिल किया. यशवंत मैनेजिंग कमेटी के सदस्य पद हेतु चुनाव लड़ेंगे. दैनिक जागरण, अमर उजाला और आई-नेक्स्ट जैसे अखबारों में सब एडिटर से लेकर चीफ रिपोर्टर और संपादक पद पर आसीन रह चुके यशवंत फिलहाल कई न्यूज चैनलों और अखबारों के सलाहकार के रूप में भी कार्यरत हैं. साथ ही साथ वह दशक भर से भड़ास फार मीडिया के जरिए मीडिया इंडस्ट्री की अच्छी-बुरी हलचलों को जनता के सामने लाने का काम कर रहे हैं.

इस बाबत यशवंत का कहना है-

''प्रेस क्लब आफ इंडिया में बहुत कुछ किया जाना बाकी है. इस क्लब में रचनात्मक गतिविधियां शून्य के बराबर हैं. मीडियाकर्मियों को टेक्नालजी और कंटेंट के बदलते दौर के बारे में अपडेट रखने के लिए वर्कशाप किए जाने की जरूरत है. वेबसाइट्स, ब्लाग, यूट्यूब आदि के जरिए पैसे कमाने के बारे में मीडियाकर्मियों को ट्रेंड किए जाने की जरूरत है ताकि वह नौकरी जाने की स्थिति में खुद के दम पर परिवार का खर्च चला सकें तथा मिशनरी एप्रोच से सच्चाई को सामने रखने वाली पत्रकारिता को बिना दबाव जारी रख सकें. प्रिंट मीडिया के सिकुड़ते परिदृश्य और न्यू मीडिया के बढ़ते जोर के इस दौर में प्रेस क्लब आफ इंडिया में नए किस्म के समझदार पत्रकारों को भेजे जाने की जरूरत है जो समय के साथ प्रेस क्लब की कदमताल करा सकें.  प्रेस क्लब आफ इंडिया के सदस्यों के जन्मदिन पर एक सकारात्मक पहल करते हुए 'जन्मदिन मुबारक' नामक एक छोटा-सा कार्यक्रम कराए जाने की जरूरत है ताकि आपसी इंटरैक्शन पढ़ सके.  मुझे उम्मीद है कि प्रेस क्लब आफ इंडिया के सभी सम्मानित सदस्य मेरी दावेदारी को अपने वोट के जरिए संस्तुत करेंगे ताकि प्रेस क्लब आफ इंडिया को देश का मॉडल प्रेस क्लब बनाया जा सके.''

 

अब PayTM के जरिए भी भड़ास की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9999330099 पर पेटीएम करें

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Tagged under press club of india,

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas