जब तक मैं ‘समाचार प्लस’ नहीं देख लेता, मेरा दिन पूरा नहीं होता : अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के होटल ताज विवांता में समाचार प्लस प्राइड अवॉर्ड समारोह 2014 का आयोजन किया गया। इस अवॉर्ड समारोह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे। इस मौके पर समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ उमेश कुमार, मैनेजिंग एडिटर अमिताभ अग्निहोत्री, एक्जीक्यूटिव एडिटर प्रवीण साहनी, बॉलीवुड एक्टर विवेक ओबेराय और महिमा चौधरी के अलावा पत्रकारिता और अन्य क्षेत्रों की जानी-मानी हस्तियां मौजूद रहीं।

समाचार प्लस की ओर से आयोजित इस अवार्ड समारोह का मकसद उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की प्रतिभाओं का सम्मान करना था। अवॉर्ड समारोह में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपी और उत्तराखंड की कई प्रतिभाओं का सम्मान किया। इसके साथ ही उन्होंने प्रसिद्ध कवि गोपाल दास नीरज को लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड दिया। इस मौके पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समारोह में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि जब तक वो समाचार प्लस नहीं देख लेते उनका दिन पूरा नहीं होता। वहीं समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ उमेश कुमार ने कहा कि समाचार प्लस आगे भी ऐसी प्रतिभाओं को सम्मानित करता रहेगा। सम्मान समारोह में शंकर साहनी और शिबानी कश्यप के स्टेज परफॉर्मेंस ने समारोह को और खूबसूरत बना दिया।

प्रेस रिलीज.



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करें-  https://chat.whatsapp.com/JYYJjZdtLQbDSzhajsOCsG

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Comments on “जब तक मैं ‘समाचार प्लस’ नहीं देख लेता, मेरा दिन पूरा नहीं होता : अखिलेश यादव

  • A.P.SONI AKASH says:

    समाचार प्लस उत्तरोत्तर प्रगति करे कामना करता हूँ मगर इधर कुछ दिनों से समाचार प्लस पर भी पत्रकारिता के साथ बाज़ारवाद हॉबी हो रहा है जो उबाऊ है आदरणीय अमिताभ अग्निहोत्री जी आप पत्रकारिता के गुरु द्रोणाचार्य है कई एकलब्य है जो आपसे आपको देख सुनकर पत्रकारिता का गुर सीख रहे है और ये बताने में मुझे ज़रा भी हिचक नही है की उनमे से एक भाग्यशाली मै भी हूँ हालाँकि अभी मै दूसरे मीडिया संस्थान से जुड़कर सेवा कर रहा हूँ मगर ईश्वर ने अगर कृपा की तो कभी न कभी आपके सानिध्य व प्रेम की छावं में शीतलता का अनुभव ज़रूर करूँगा …..

    Reply

Leave a Reply to A.P.SONI AKASH Cancel reply

Your email address will not be published.

*

code