एमएलए ओवैसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने से मना, दंगा होने पर ही दर्ज करेंगे एफआईआर

हैदराबाद एमएलए अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ भड़काऊ भाषण मामले लखनऊ के दो विद्यार्थियों तनया ठाकुर और उसके भाई आदित्य द्वारा आज गोमतीनगर थाना में एक एफआईआर दिया गया. थानाध्यक्ष एसके गौतम ने इन बच्चों द्वारा दिये गए प्रार्थनापत्र पर एफआईआर लिखने से साफ़ मना कर दिया. ओवैसी ने अपने भाषण में खुलेआम हिंदू-मुसलामानों में अतीव तनाव बढ़ाने वाले अत्यंत आपत्तिजनक और भड़काऊ बातें कही थीं. उन्होंने कहा था कि यदि पुलिस मात्र पन्द्रह मिनट के लिए हट जाए तो अल्पसंख्यक धर्म के लोग बहुसंख्यकों को उनका दम दिखा देंगे. साथ ही उन्होंने हिंदू धर्म के देवताओं के बारे में अत्यंत अनुचित और भद्दी बातें कहीं.

चूँकि ये भड़काऊ भाषण इन्टरनेट के माध्यम से प्रसारित हो रहे हैं, तनया और आदित्य ने इस सम्बन्ध में धारा 153 ए, 295 ए, 298, 504, 505, 506 आईपीसी एवं धारा 66 ए आईटी एक्ट 2000 में एफआईआर दर्ज करने को कहा था. थानाध्यक्ष गोमतीनगर ने इन बच्चों से कहा कि हम एफआईआर तब दर्ज करेंगे जब कोई क़ानून-व्यवस्था की घटना घट जायेगी, उससे पहले नहीं. तनया और आदित्य ने एफआईआर दर्ज कराने और थानाध्यक्ष के अनुचित व्यवहार के सम्बन्ध में एसएसपी लखनऊ को धारा 154 (3) सीआरपीसी के तहत पत्र भेजा है.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia