चिटफंड कंपनी ‘समृद्ध जीवन’ से सावधान, इसका भी हाल पीएसीएल और शारधा घोटाले वाला होने वाला है!

आजमगढ़ । समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी के मेरठ ब्रांच के पूर्व शाखा प्रबंधक संदीप राय ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज कोआपरेटिव सोसायटी के उपर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि ये सोसायटी देश में चल रही चिटफंड कंपनियों में अग्रणी है और इसका भी हाल पीएसीएल और शारधा चिट फंड घोटाले जैसी कंपनियों वाला होने वाला है। पीएसीएल और शारधा चिटफंड कंपनियों ने आम नागरिकों की 60 हजार करोड रुपये से भी ज्यादा की खून पसीने की कमाई को जी भर कर लूटा था। इसी कडी में अगला एपिसोड समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज कोआपरेटिव सोसायटी का होने वाला है। राय ने कंपनी पर आरोप लगाते हुये प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से सोसायटी प्रबंधन से कई बिंदुओं पर जवाब मांगा है।

1-वर्ष 2002 सें अब तक कंपनी को अपने नाम क्रमशः गुरूकृपा डेयरीज, समृद्ध जीवन फूडस इंडिया लि0, प्रोस्पेरिटी एग्रो इंडिया लिमिटेड, समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी एवं गोल्डन पेटल नाम क्यों रखने पड़े। क्या ये किसी संदिग्धता की भावना के चलते तो नहीं किया गया।

2-जब सेबी ने दिनांक 2013 ने समृद्ध जीवन फूडस इंडिया लिमिटेड एवं प्रोस्पेरिटी एग्रो इंडिया लिमिटेड पर बैन लगाया एवं किसी भी प्रकार की नयी कंपनी अथवा लुभावनी स्कीम्स के संचालन से रोक लगाई तो समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी का गठन किस आधार पर किया गया क्योंकि दोनों के संचालक मंडल एवं कार्य करने का प्रकार क्रमशः एक जैसा ही है।

3-समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज कोआपरेटिव सोसायटी के बॉयलाज में यह उल्लेखित होने पर कि मांग पर भुगतान किया जायेगा, आय0 पी एवं एस0 आय0 पी प्लान के तहत अनुबंध कराया जा रहा हैं, जिसमें मात्र परिपक्वता पर भुगतान दिये जाने का उल्लेख किया गया। इस प्रकार समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी द्वारा अपने बॉयलाज की मंशा के विपरीत कार्य किया जा रहा है, क्यों।

4-सेबी द्वारा 26 नवंबर 2013 को जारी अपनी जांच रिपोर्ट में समृद्ध जीवन फूडस इंडिया लिमिटेड द्वारा करायी गयी पालिसी मुख्यतः आय0 पी एवं एस0 आय0 पी प्लान पर तत्काल से कस्टमर से धनराशि ना लिये जाने के आदेश जारी किये गये थें। जबकि समृद्ध जीवन फूडस इंडिया लिमिटेड द्वारा आय0 पी एवं एस0 आय0 पी प्लान के अंतर्गत करवायी गयी पालिसी को देश भर में समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज कोआपरेटिव सोसायटी के नाम के तहत जारी रखा गया, जोकि सेबी के आदेशों का पूर्णतः उल्लंघन है।

5-समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी द्वारा बॉयलाज की मंशा के विपरीत आय0 पी एवं एस0 आय0 पी प्लान के अंतर्गत जो योजना चलाई जा रही हैं बांड के अनुसार उसमें लाइव स्टाक देने की बात लिखी जाती हैं, जबकि कस्टमर को किसी भी प्रकार का लाइव स्टाक नही दिया जाता हैं बदलें में धनराशि ही दी जाती हैं, इसका उल्लेख सेबी द्वारा अपनी जांच रिपोर्ट में भी किया गया हैं। इस प्रकार बिजनेस प्लान के नाम पर सोसायटी द्वारा एक प्रकार से टर्म डिपाजिट लेकर बैंकिग का ही कार्य किया जा रहा हैं जोकि कृषि मंत्रालय एवं सहकारिता के नाम पर धोखा हैं।

6-समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी द्वारा समृद्ध जीवन फूडस इंडिया लिमिटेड एवं प्रोस्पेरिटी एग्रो इंडिया लिमिटेड द्वारा कस्टमर के नाम जारी चेक को भुगतान किया गया हैं एवं इस प्रकार बैंकिग रेग्यूलेशन एक्ट 1949 के पैरा-49-ए का पूर्णरूप से उल्लंघन किया गया हैं।

7-समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी के लखनउ एवं हल्द्वानी स्थित शाखायें जोकि प्रोस्पेरिटी एग्रो इंडिया के नाम से खरीदी गयी थी एवं जिसमें आज दिनांक तक समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी का कार्य चल रहा हैं इस तथ्य से साबित होता हैं कि नाम बदले हैं काम नही ।

8-मध्य प्रदेश हाइकोर्ट के आदेश दिनांक 13 जुलाई 2012 के संदर्भ में राय ने सोसायटी प्रबंधन से जवाब मांगा हैं कि क्यों आपकों माननीय मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने भगोडा घोषित किया था।

9-उडीसा राज्य के तलचर, जाचपुर एवं बाडगाह जिलों में दर्ज सोसायटी प्रमुख श्री महेश किसन मोतेवार के खिलाफ दर्ज 420 के मुकदमों के बारे में सोसायटी प्रबंधन का क्या जवाब है।

10-समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी किस आधार पर ऐजेंटों की नियुक्ति करती हैं एवं किस आधार पर उनकों ओ0आर0सी0 ;ओवर रायडिंग कमीशनद्ध एवं एम0एफ0ए ;मंथली फिल्ड ऐलाउंस का वितरण करती हैं जबकि उसको कृषि मंत्रालय एवं सहकारिता की मूल भावना के अंतर्गत केवल सदस्यों के माध्यम से ही व्यवहार करना था।

11-समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज कोआपरेटिव सोसायटी के कर्मचारी का पी0एफ जोकि उनका मूलभूत अधिकार हैं उसमें अपना अंशदान क्यों नहीं जमा करती।

12-समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज कोआपरेटिव सोसायटी अपने कर्मचारियों को राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय अवकाश क्यों नही प्रदान करती।

13-अभी हाल ही में पंजाब सरकार के कापरेटिव सोसायटी के रजिस्ट्रार ने आपको चिन्हित किया था कि आपके पास पंजाब राज्य में कार्य करने हेतु आवश्यक अनापत्ति प्रमाण पत्र नही था फिर भी आपने संपूर्ण राज्य में अनाधिकृत रूप अपनी अनेक शाखाओं के माध्यम से करोडों का हेरफेर किया, आखिर क्यों ।

14-उत्तराखंड राज्य में आपकी समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी की निबंधन तिथि 8 जून 2012 थी एवं उत्तराखण्ड राज्य में कार्य करने की अनुमति 28 मार्च 2013 को प्राप्त हुई, जबकि समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी द्वारा निबंधन तिथि से पूर्व ही समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी के नाम की जमा रसीद कस्टमर को दी गई, इस प्रकार से यह स्पष्ट हैं कि आपके द्वारा अपने निबंधन से पूर्व ही उत्तराखण्ड राज्य में कार्य करना आरंभ कर दिया गया था जोकि अवैध है।

15-निबंधक सहकारी समितियां उत्तराखण्ड के कार्यालय पत्रांक 27107/अधि0-सं-का/मल्टी स्टेट को0 आप/निरीक्षण-जांच 2014-15 दिनांक 4 जुलाई 2014 में मुख्य जांच अधिकारी श्री नीरज बेलवाल की जांच रिपोर्ट में जिसमें की आपके ध्वस्त होने एवं कानून व्यवस्था बिगडने तक की बात कही गयी हैं उसके बार में सोसायटी प्रबंधन का क्या कहना है।

16-आपके द्वारा चार बार नाम बदलने के पीछे कही किसी प्रकार की घृणित मानसिकता तो नही हैं।

17-आपने अफ्रीकी गणराज्य लिथुआनिया की नागरिकता लेने के पीछे जो आपने वहा 10 लाख डालर का निवेश किया हैं कही वो आपका पलायन तो नही दर्शाता है।

18-प्रोस्पेरिटी एग्रो इंडिया पर रोक के बावजूद आपके द्वारा संचालित लाइव इंडिया न्यूज चैनल एवं मी मराठी नाम के चैनल को चलाने का आखिर क्या उद्वेश्य है, कहीं ऐसा तो नही कि आप अपने कारनामों से खुद को बचने बचाने के लिये ऐसा करते हों।

19-समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी के पास केवल सावधि जमा एवं पिग्मी डिपाजिट का ही लायसेंस हैं वो भी केवल सदस्यों के मध्य में फिर भी आप आय0 पी0 एवं एस0 आय0 पी0 प्लानों का संचालन धडल्ले से कर रहें हैं और वो भी सेबी के प्रतिबंध के बावजूद।

20-समृद्ध जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज को0आपरेटिव सोसायटी के द्वारा सर्कुलरों अथवा विशेष लुभावनी स्कीमों का संचालन जो आपके द्वारा समय समय पर बिजनेस को बढाने के लिये किया जाता हैं  वो आप किस आधार पर करते हैं क्योंकी सहाकारिता आपकों इस बात की इजाजत नही देती हैं।

21-किस प्रकार से आप अपने ऐजेंटो के मध्य 12 साल का कैरियर एवं 12 रैंक देते हैं, इस तरह का कार्य तो केवल मल्टी लेवल मार्केंटिग एवं चिट फंडी करते हैं। आप क्लब मेंबरशिप भी प्रदान करते हैं।

22-अपने भांजे श्री प्रसाद परसवार की शाही शादी जो कि आपने पुणे के बालेवाडी स्टेडियम में की थी वो एवं उसमें तकरीबन 3 लाख लोगों की आमद हुई थी एवं इस शादी के लिये आपने पुणे शहर के तमाम मैरिज हाल, बैंक्वेट हाल एव पंडाल बुक किये थे, साथ ही चार विशेष रेलगाडिया एवं तकरीबन पूरे भारत की 80 प्रतिशत वायु सेवा को आपने बुक किया था। उस शाही शादी में आपने सेलो कंपनी से 80 हजार कुर्सियां खरीदी एवं इस पूरे तामझाम को पूरा करने के लिये आम जनता की गाढी कमाई के 90 करोड़ रुपये आपने खर्च कर दिये, आखिर किस हैसियत से।

23-आपके पास राल्य रायस एवं लुब्रगिनी जैसी गाडियों का काफिला हैं जोकि भारत जैसे देश में भी अल्प मात्रा में उपलब्ध हैं आखिर अपनी शाही जिंदगी के लिये कब तक आप जनता का खून चूसते रहेंगे।

24- 13 साल के आपकी कंपनी के इतिहास में आपने अभी तक 14 हजार करोड रूप्ये की धनराशि आपने 21 राज्यों की जनता से बटोरी हैं उसकों लोटाने के लिये आपके पास पर्याप्त बैलेंस है कि वो आपने लिथुआनिया देश में अपने बुढापें के लिये बचा कर रखा हैं।

मेरा माननीय प्रधानमंत्री जी एवं पाठकों से अनुरोघ हैं कि वो अपने विवके का प्रयोग करें साथ ही इस प्रकार की चिट फंडी कंपनी के खिलाफ एकजुट होकर अपने लोकतांत्रिक अधिकारों का प्रयोग कर, इस कंपनी के भागने के मार्ग को अवरूद्ध करनें में अपना योगदान दें जिससे की जनता की गाढी कमाई का बचाया जा सकें।

सधन्यवाद,

आपका

संदीप राय

आजमगढ

संपर्क: 07895998665, sandyazam7@gmail.com

प्रेस विज्ञप्ति


इसे भी पढ़ें…

Sebi orders Samruddha Jeevan Foods India to repay investors money in 3 months

xxx

‘प्रजातंत्र लाइव’ के मीडियाकर्मियों ने कैंडल मार्च निकाल कर अपने चिटफंडिये मालिक को ललकारा

xxx

चिटफंड के समारोह का ‘लाइव इंडिया’ करता रहा लाइव प्रसारण, सतीश के सिंह भी मंच पर मौजूद

xxx

चिटफंडिया ‘समृद्ध जीवन फाउंडेशन’ की मददगार बनी अखिलेश सरकार, निष्कासित मीडियाकर्मी संघर्ष की राह पर

xxx

विवादित चिटफंड कंपनी समृद्ध जीवन के अखबार ‘प्रजातंत्र लाइव’ में बवाल, पुलिस पहुंची, मालिक से शिकायत

xxx

अपने मालिक की बर्थडे पार्टी को सबसे बड़ी ख़बर बताकर पूरे दिन प्रसारित करता रहा लाइव इंडिया

xxx

ये लाइव इंडिया नहीं ये है चिट फंड इंडिया

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Comments on “चिटफंड कंपनी ‘समृद्ध जीवन’ से सावधान, इसका भी हाल पीएसीएल और शारधा घोटाले वाला होने वाला है!

  • लोकतंत्र मूर्खो का शासन होता है. समृद्ध जैसे ठग ऐसे ही लोकतंत्र में आस्था रखकर जनता ओ ठगते है. ऐसे लोगों को चौक चौराहे पर घसीट कर मरना चाहिए. समय नजदीक आ रहा है. अब देश में कोई भी ठग बच नहीं सकता. सहारा भी जाल में फंसा ही है. अब पता चलेगा सचमुच में सच परेशां हो सकता है पराजित नहीं हो सकता.

    Reply
  • ये कंपनी एक न्यूज़ चैनल भी चलती है लाइव इंडिया जिसके एडिटर साहब का पीएमओ मई पहुंच है..ये एडिटर साहब पहले ज़ी क साथ थे..अब अपने दबंग्गै के कारन मालिक के सरे काले धन और पाप को संभल रहे है..पीएमओ तक पहुंच क कारन इनका कुछ नहीं हो रहा..ये साहब चैनल मई भी भूमिहार बाद करते है और ४ दलाल टाइप भूमिहार पत्रकार रखे है जो नेताओं से मालिक की दलाली करते है

    Reply
  • बरुन कुमार says:

    जब कंपनी खुलता है तो सरकार बैठा रहता है और 10 साल चलाने बाद सब लोग फस जाते है तो cbi रेड मारते हैं कंपनी को सील कर देते है सरकार भी मिला है ये सही बात है नही तो सारा जमीन सील है तो बेच क्यो नही देता

    Reply
  • jo be mera msg padega bhaio please muje es company ka kya chal raha hai please batana kuki me es company se barbad ho gaya hu kuki mane es company me one lakh fixed deposite karwaya tha or ek 1000/- ke RD khol rakhi thi or five pepole ka bhi invest karwa rakha tha ab koi be es company ki new nahi aa rahi hai kya govt. so rahi hai kya jo garib logoo ka deyan nahi de rahi.

    Reply

Leave a Reply to musharraf husain Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *