A+ A A-

Surya Pratap Singh : उत्तर प्रदेश में नक़ल माफ़िया का नंगा नाँच.... नयी सरकार की 'ट्रैंज़िशन-अवधि' में उ० प्र० में प्रशासन नाम की चीज़ नहीं है.... भारी 'जनादेश' देकर भी नक़ल माफ़िया के सामने जनता बेबसी से 'कौन होगा मुख्यमंत्री' के खेल का मंचन देख रही है... नक़ल के लिए कुख्यात कौशाम्बी, इलाहाबाद में यूपी बोर्ड परीक्षा में धुंआधार नकल, यहां इमला बोलकर लिखाया गया एक-एक उत्तर... नीचे देख सकते हैं प्रमाण के तौर पर संबंधित वीडियो...

नकल के लिए बदनाम कौशांबी जिले मे इस बार 112 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जिला प्रशासन ने नकल विहीन परीक्षा करने का दिखावे पूर्ण दावा किया था लेकिन उसके दावे की हवा पहले दिन ही निकल गई। जिले के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर जमकर नकल हुई। कक्ष निरीक्षक कहीं इमला बोलकर नकल कराते दिखे तो कहीं परीक्षार्थी की कापी भी लिखते दिखाई दिये। कहने को नकल रोकने के लिए सचल दस्ते परीक्षा केंद्रों तक पहुंचे। सचल दल मे शामिल लोग महज खाना पूर्ति करके वापस लौट जाते रहे। जिला प्रशासन के दावों की पोल खोलने के लिए मीडिया के कैमरों मे कैद तस्वीरे हकीकत को बयां करने के लिए बहुत हैं। निम्न दो वीडियो देखें तो माजरा समझ में आ जाएगा ....

https://youtu.be/0vaUptWANMw

https://youtu.be/8rUviGRU4Ow

xxx

आज आरंभ हुई उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षाओं में नक़ल का बोलबाला..... नयी सरकार के संकल्प को चुनौती! आपको याद हो की गोण्डा की चुनावी रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तर प्रदेश में व्याप्त नक़ल के अभिशाप के मुद्दे को उठाया था ...इस वर्ष भी मैंने अपना नक़ल के विरुद्ध 'सविनय सुचिशिक्षा अभियान' यानि 'नक़ल रोको अभियान' चलाने का संकल्प लिया है...

मैं कल अलीगढ़ में आपने 'नक़ल रोको अभियान' के सम्बंध में गया था और अपने इस अभियान को इस वर्ष भी निजी प्रयासों के रूप में चालू रखने के लिए वालंटीर्स के साथ कार्ययोजना बनायी गयी.... आज इस अभियान के तहत मेरठ, ग़ाज़ियाबाद, व हापुड़ जनपदों का भ्रमण पर हूँ। ज्ञात हुआ कि अलीगढ़ के नक़ल के लिए कुख्यात वीआईपी तहसील "अतरोली" में खुले आम सामूहिक नक़ल हुई। जब कि मेरे अभियान के अलीगढ़ में शुरुआत पर अलीगढ़ के अख़बारों के प्रतिनिधियों के पूछे जाने पर राजस्थान के राज्यपाल श्री कल्याण सिंह ने कल ही कहा था कि 'अतरोली इस वर्ष अपने ऊपर से नक़ल के दाग़ की नहीं लगने देगा'.....परंतु आज यह सत्य साबित नहीं हुआ और अतरोली में धड़ल्ले से सामूहिक नक़ल हुई।

ज्ञात हो कि बोर्ड परीक्षा में पैसे देकर नक़ल से बोर्ड परीक्षा पास करने अतरोली में मिज़ोरम, मणिपुर, जम्मू-कश्मीर तक के बच्चे आते हैं। नयी सरकार के लिए बोर्ड की परीक्षाओं में नक़ल रोकना बड़ी चुनौती बनेगी..... प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा विभाग के रूप में मैंने परीक्षा केंद्रों पर CCTV कैमरा लगाने व नक़ल रोकने जे किए छात्रों, अभिववकों, अध्यापकों, प्रबंधकों की हर मंडल में बैठकें कर नक़ल के विरुद्ध अभियान चलाया था.... मात्र ३ महीने में ही सपा सरकार ने मेरा ट्रान्स्फ़र कर दिया था..... मैंने २५५ परीक्षा केंद्रों को ब्लैकलिस्ट किया था जिन्हें सपा सरकार ने मेरे ट्रान्स्फ़र के बाद बहाल कर दिया था। यदि नक़ल रोकने के लिए आने वाली सरकार नक़ल रोकने जे किए मेरे अनुभव का लाभ उठाना चाहती है तो युवाओं के जीवन जे हित में, मैं सहर्ष अपना योगदान देने के किए तैयार हूँ.....

यूपी कैडर के चर्चित आईएएस रहे और इन दिनों भाजपा नेता के रूप में सक्रिय सूर्य प्रताप सिंह की एफबी वॉल से.

Tagged under Surya Pratap Singh,

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas