A+ A A-

लखनऊ से एक बड़ी खबर आ रही है. खनन माफिया गायत्री प्रजापति की मदद करने के आरोपी अफसरों की जांच पूरी हो गई है. जांच रिपोर्ट में सीओ हजरतगंज अवनीश मिश्रा और सीओ बीकेटी अमिता सिंह को दोषी ठहराया गया है. सीओ से हाल में ही एडिशनल एसपी बने अवनीश मिश्रा की मुश्किलें बढ़ गई हैं. पुलिस अफसरों द्वारा गायत्री प्रजापति की मदद किए जाने को लेकर जांच का काम एसपी उत्तरी अनुराग वत्स को दिया गया था.

वत्स ने जांच रिपोर्ट तैया करके एसएसपी को सौंप दी. इस जांच रिपोर्ट में सीओ हजरतगंज अवनीश मिश्रा को जमानत में लचर पैरवी के लिए दोषी ठहराया गया है. गायत्री प्रजापति के प्रकरण की जांच कर रही सीओ अमिता सिंह पर आरोप है कि उन्होंने गायत्री के खिलाफ सबूत नहीं जुटाया. इन दोनों अफसरों पर अब विभागीय कार्रवाई की तलवार लटकी हुई है. लखनऊ के एसएसपी ने कार्रवाई के लिए आईजी प्रशासन को पत्र लिख दिया है. आरोपी अफसर भी अपने को बचाने के लिए हर तरह के हथियार व दांवपेंच आजमा रहे हैं.

अब PayTM के जरिए भी भड़ास की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9999330099 पर पेटीएम करें

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.

People in this conversation

  • Guest - Farooqui Parvez

    सरकार के दबाव में आज भी अफ़सरान काम करने को मजबूर किये जाते है मजबूर कर इस्तेमाल क सरकार के दबाव में आज भी अफ़सरान काम करने को मजबूर किये जाते हैं ! अधिकारियो को तो सभी सत्तारूढ़ दल निजी स्वार्थ के लिए मजबुर कर काम करवाते हैं , सरकार के दबाव में आज भी अफ़सरान काम करने को मजबूर किये जाते हैं ! इस सच्चाई से क्या इंकार किया जा सकता है ?

    from Mumbai, Maharashtra, India

Latest Bhadas