A+ A A-

सोनभद्र 27 जून 2017 : योगी सरकार का सौ दिन का कार्यकाल प्रदेश की जनता के साथ धोखाधड़ी का रहा है। प्रदेश में सपा-बसपा के समय से जारी वीआईपी लूट के अवैध खनन के खिलाफ जनता के गुस्से का लाभ लेकर भाजपा गठबंधन ने जनपद की चारों सीटों पर विजय प्राप्त की थी। पर आज योगी राज में जनता ने देखा कि उसके साथ धोखा हुआ है। वीआईपी का रेट पहले से तीन गुना हो गया। सुप्रीम कोर्ट, हाईकोर्ट और एनजीटी के आदेशों के बाद भी सत्ता के संरक्षण में खननकर्ता नदी में पोकलैन मशीन लगाकर खनन करा रहे है, नदियों की धार को रोककर पुल बना दिए गए है, नदी के पेटे से 20 मीटर तक खनन कराया जा रहा है। यहां तक कि सेंचुरी एरिया में खनन हो रहा है। इसके खिलाफ स्वराज अभियान रिपोर्ट तैयार कर रहा है जिसे सीबीआई के निदेशक को दिया जायेगा और सुप्रीम कोर्ट में जारी याचिका में पूरक याचिका भी दाखिल की जायेगी। यह बातें आज राबर्ट्सगंज सिंचाई विभाग डाक बंगले में आयोजित पत्रकार वार्ता में स्वराज अभियान की प्रदेश कार्यसमिति सदस्य व यूपी वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर ने कहीं।

उन्होंने भाजपा के घोषणा पत्र जिसे लोक संकल्प पत्र कहा गया को पत्रकारों को दिखते हुए कहा कि इसमें साफ लिखा है कि पूर्व में अवैध खनन में लिप्त लोगों पर कार्यवाही होगी। इतना ही नहीं चुनाव के समय केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ककरी की सभा में कहा था कि उनकी सरकार बनने पर अवैध खननकर्ता जेल जायेंगे। आज यदि भाजपा सरकार में थोड़ी सी भी नैतिकता है, तो इस खनन के अवैध कारोबार में लिप्त अपने जिलाध्यक्ष समेत तमाम नेताओं को जेल भेजें। उन्होंने न्यायालयों के आदेशों को दिखाते हुए कहा कि स्पष्ट तौर पर उच्च न्यायालय व एनजीटी ने बालू खनन में जेसीबी व पोकलैन मशाीनों पर रोक लगायी है। दीपक कुमार बनाम हरियाणा के मुकदमें ने सुप्रीम कोर्ट ने नदी तल से 3 मीटर से ज्यादा और नदी के पेटे में खनन पर रोक लगायी है। सरकार की खनिज नीति 2017 के उद्देश्य में खुद र्प्यावरण व परिस्थितिकी संतुलन बनाएं रखने, रोजगार के अवसर बढ़ाने की बातें की गयी है। पर वास्तव में इस सब की धज्जी उड़ाई जा रही है। उन्होंने कहा कि योगी सरकार और प्रशासन की शह पर यह मनमानी इसलिए हो रही है क्योंकि उ0 प्र0 में विपक्षहीनता है। सपा-बसपा के अंदर यह नैतिक साहस नहीं है कि वह इसका मुकाबला करें। क्योंकि इनके राज में ही अवैध खनन का कारोबार फलाफूला है। इसलिए स्वराज अभियान प्रदेश में जनता की आवाज बनेगा। स्वराज अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रशांत भूषण की पैरवी से सीबीआई जांच जारी है और उम्मीद हैं कि येदुरप्पा की तरह ही प्रदेश के अवैध खननकर्ताओं को सजा मिलेगी।

उन्होंने कहा कि इस सरकार ने किसानों की कर्ज माफी में भी धोखा किया है। चुनाव में एक हफ्ते सभी कर्जा माफ करने की बात कहने वाले मोदी जी ने चुनाव बाद ही अपने वायदें से पल्ला झाड़ लिया और सौ दिन बीत जाने के बाद भी योगी जी 2016 तक के 1 लाख के कर्ज माफ करने की महज बातें ही कर रहे है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गजब अर्थनीति काम कर रही है। सस्ती बिजली पैदा करने वाली की उत्पादनरत इकाईयों में उत्पादन बंद कराया जा रहा है। वहीं अम्बानी से महंगी बिजली खरीदी जा रही है। जैसी रपट है मोदी जी के सबसे प्रिय पूंजीपति गौतम अड़ानी को लैन्कों पावर प्लांट को बेचा जा रहा है और अनपरा के अन्य प्लांटों को भी बेचने की तैयारी है। इस सब कोशिशों के खिलाफ विभिन्न संगठनों व व्यक्तियों के साथ मिलकर स्वराज अभियान लड़ेगा।

उन्होंने कहा कि स्वराज अभियान के राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य अखिलेन्द्र प्रताप सिंह के नेतृत्व में हुए लोकतांत्रिक आंदोलन के बदौलत इस पूरे अंचल में शांति स्थापित हुई थी जिसे योगी सरकार पूर्व की राजनाथ सिंह के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के नक्शेकदम पर चलकर भंग करना चाहती है। आदिवासियों और वनाश्रितों को वनाधिकार कानून में दाखिल उनके दावों का निस्तारण किए बिना ही उन्हें पुश्तैनी जमीन से बेदखल किया जा रहा है। जो नौगढ़ से लेकर दुद्धी तक भारी सामाजिक तनाव को पैदा कर रहा है। उन्होंने जनपद के लोकतंत्र, शांति पसंद नागरिकों से सरकार की इन कोशिशों से सावधान रहने और हर हमलें का प्रतिकार करने की अपील की। पत्रकार वार्ता में स्वराज इंडिया के नेता राहुल कुमार, प्रवक्ता महेन्द्र प्रताप सिंह, स्वराज अभियान के युवा संगठन के नेता श्यामजी मिश्र, रमेश सिंह खरवार, मो0 हनीफ आदि मौजूद रहे।

महेन्द्र प्रताप सिंह
प्रवक्ता
स्वराज अभियान, सोनभद्र।

Tagged under yogi raj,

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas