A+ A A-

लखनऊ । भ्रष्टाचार की पोल खोल अभियान से घबराये नगर निगम अधिकारी और कर्मचारी अब बचाव छोड़ आक्रामक मुद्रा में आ गये है। इस पहल से परेशान नगर निगम के अधिकारी अब फर्स्ट आई न्यूज के कर्मचारियों और अधिकारियों को जान से मारने की धमकी भरे फोन तो करवा ही रहे है साथ ही कार्यालय पर गुण्डें भेजकर फर्स्ट आई के डायरेक्टर्स का पीछा भी करवा रहे है। लेकिन नगर निगम के अधिकारियों के इस तरह के दुस्साहस से डरे बगैर इस मीडिया हाउस ने तय किया है कि नगर निगम में जड़ तक अपनी पैठ बना चुके करप्शन को आम जनता और शासन सत्ता के सामने लाकर ही दम लेंगे और इस अभियान को आगे भी जारी रखेंगे। इसके लिए मीडिया हाउस ने सभी अधिकारियों और उनके चापलूसों के खिलाफ पर्याप्त सबूत जुटा लिये है। इस भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेकने के लिए फर्स्ट आई की पूरी टीम कार्य कर रही है।

गौरतलब है कि कुछ समय से फर्स्ट आई मीडिया ने नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार की बखिया उधेड़नी शुरू की थी। इसके तहत पोल खोल अभियान की शुरूआत की थी। नगर निगम में संविदा कर्मचारियों की संख्या में घोटाले से लेकर टेण्डर घोटालों तक की सच्चाई खोल कर रख दी थी। इसके बाद उच्चाधिकारियों से लेकर कर्मचारियों तक में खलबली मच गयी थी। सूत्रों के मुताबिक उजागर किये गये कई मामलों में शासन ने जांच भी बैठायी, लेकिन कहा जाता है ना कि ढ़ाक के तीन पात। कुबेर जी की कृपा से न तो जांचों का कोई रिजल्ट आया और न ही शासन स्तर पर घोटालों की चर्चा ही हुई । शासन सत्ता का मजबूती से संरक्षण मिलने के बाद नगर निगम अधिकारियों के हौंसले इतने बुलन्द हो गये कि उन्होंने विभाग की सच्चाई उजागर करने वाले मीडिया ग्रुप के अधिकारियों को सबक सिखाने की ठान ली है। और अब वह सबक सिखाऊ अभियान में लग गये है।

इसी अभियान के तहत नगर निगम अधिकारियों के गुण्डों ने फर्स्ट आई मीडिया के डायरेक्टर्स को फोन पर गाली गलौज करते हुए निपटा देने की धमकी दी। यही नही जिस मोबाइल नम्बर से धमकी दी गयी उसी नम्बर से पहले न्यूज वेबसाइट पर चली खबरों के सम्बन्ध में धमकी दी गयी उसके बाद इसी ग्रुप की मैग्जीन में नगर निगम के भ्रष्टाचार की प्रमुखता से छापी गयी खबर पर भी उसी नम्बर से धमकी दी गयी । हालांकि यह मोबाइल नम्बर पुलिस को दे दिया गया है। लेकिन अभी भी नगर निगम अधिकारी अपनी हरकतों से बाज नही आ रहे है और गुण्डे़ भेजकर लगातार फर्स्ट आई के अधिकारियों का पीछा करवाना और उनके बारे में जानकारी इकट्ठी कराना इनका रोज का काम बन गया है।  लेकिन फर्स्ट आई मीडिया ग्रुप ने तय किया है कि इस तरह की बाधाओं से वह डरने के बजाय अपने काम को और भी मजबूती से अंजाम देंगे और नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार को लोगों के सामने लाकर ही रहेंगे।

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.

People in this conversation

  • Guest - नरेन्द्र

    देश में होने बाले हर चुनाव राजनैतिक पार्टियों के लिये भ्रष्टाचार सबसे बड़ा मुद्दा बनता है. जो विपक्ष में रहता हैं वो इस मुद्दे को ढाल बनाकर जंग में उतरता हैं और सत्ता मिलने के बाद भ्रष्टाचार के आरोप ठंडे बस्ते में डालकर सत्ता का सुख भोगने में लग जाते हैं
    https://t.co/8HJY9O4Sbg
    https://t.co/OBKemh0hwr

Latest Bhadas