Categories: प्रिंट

हाईकोर्ट के आदेश के बाद स्टेट्समैन अख़बार के साथियों को मिल चुका है मजीठिया का आधा भुगतान

Share

खबर पुरानी है, परंतु सभी के उत्साह को बढ़ाने वाली है। स्टेट्समैन के जुझारू साथी मजीठिया का आधा भुगतान पा चुके हैं। शेष आधे के लिए उनका संघर्ष जारी है। ये राशि करीब 49 लाख रुपये है।

स्टेट्समैन यूनियन के पदाधिकारी महावीर सिंह के अनुसार दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद ये राशि सभी साथियों को मिल चुकी है। ये राशि उन्हें 2019 में ही प्राप्त हो चुकी है। एक आदेश के बाद इस राशि को कंपनी ने जमा करवाया था जिसे जारी करने का आदेश दिल्ली हाईकोर्ट ने दिया था।

मालूम हो कि स्टेट्समैन के इन्हीं जुझारू साथियों की वजह से मणिसाना वेतन आयोग का केंद्र सरकार ने फिर से नोटिफिकेशन किया था। इन्हीं की बदौलत मणिसाना वेजबोर्ड फिर से जीवित हुआ, जिसके लिए इन्होंने लंबी कानूनी ल़ड़ाई ल़ड़ी।

महाराष्ट्र से साथी महेश साकुरे को भी लंबी कानूनी लड़ाई लड़ने के बाद उन्हें संस्थान ने फिर से कार्य पर लिया था। महेश साकुरे निचली अदालत से सुप्रीम कोर्ट तक अपनी ज्वाइनिंग से लेकर अब तक के सारे वेजबोर्ड प्राप्त करने का हक प्राप्त कर चुके हैं।

Latest 100 भड़ास