‘इंडिया न्यूज’ के पत्रकार सुधीर ने एक्ट्रेस स्वरा के ‘योनि’ संबंधी पत्र का दिया करारा जवाब

Sudhir Kumar Pandey : प्रिय Swara Bhasker जी , ‘वैजाइना’ (योनि) वाली चिट्ठी पढ़ी जो आपने ‘पद्मावत’ देखने के बाद संजय लीला भंसाली को लिखी है… आपका ‘योनि’ वाला खत पढ़ने के बाद मैं भी फिल्म देखने गया… फिल्म देखने के बाद आपके पत्र के संदर्भ में जो मुझे लगा वो आपको प्रेषित करता हूं… आपने लिखा है कि पद्मावत देखने के बाद आपको लगा की आप ‘योनि’ से ज्यादा कुछ नहीं…

भंसाली को स्वरा की चिट्ठी… आपकी फिल्म देखकर ख़ुद को मैंने महज एक योनि में सिमटता महसूस किया

प्रिय भंसाली साहब,

सबसे पहले आपको बधाई कि आप आखिरकार अपनी भव्य फिल्म ‘पद्मावत’- बिना ई की मात्रा और दीपिका पादुकोण की खूबसूरत कमर और संभवतः काटे गए 70 शॉटों के बगैर, रिलीज करने में कामयाब हो गए. आप इस बात के लिए भी बधाई के पात्र हैं कि आपकी फिल्म रिलीज भी हो गई और न किसी का सिर उसके धड़ से अलग हुआ, न किसी की नाक कटी. और आज के इस ‘सहिष्णु’ भारत में, जहां मीट को लेकर लोगों की हत्याएं हो जाती हैं और किसी आदिम मर्दाने गर्व की भावना का बदला लेने के लिए स्कूल जाते बच्चों को निशाना बनाया जाता है, उसके बीच आपकी फिल्म रिलीज हो सकी, यह अपने आप में बहुत बड़ी बात है. इसलिए आपको एक बार फिर से बधाई.

‘पदमावत’ पर यशवंत ने पहली और आखिरी बार क्या लिखा, पढ़िए…

भड़ासानंद यशवंत.

Yashwant Singh :  मैं फिलिम पद्मावती उर्फ पद्मावत प्रकरण पर पहली बार लिख रहा हूं. और, ये आखिरी बार भी है. प्वाइंट वाइज…

-ऐसे दंगा भड़का के, जबरन विवाद खड़ा करवा के, देश के पूरे तंत्र का इस्तेमाल करके फिल्म हिट कराने के फंडे को बेहूदा मानता हूं. ऐसी हरकतों को हतोत्साहित किया जाना चाहिए. इसलिए इस मसले पर लिखने-बोलने से बचता रहा. यही कारण है कि ब्रांडिंग की इस घटिया सामंती टाइप भारतीय तरीके के प्रतिकार स्वरूप यह फिल्म देखने न गया न जाउंगा.

पर्दे पर ‘पद्मावत’ ; सड़क पर उपद्रव : लम्बे समय से रुकी मेरी क़लम आज ख़ुद को रोक न सकी…

एक पत्रकार के तौर पर लम्बे समय से रुकी मेरी क़लम आज ख़ुद को रोक न सकी। समय की व्यस्तता और एकाग्रता की कमी के कारण मेरी क़लम पर जो लगाम लगा हुआ था, आज वह सारी बंदिशें तोड़ कर कुछ बोलना चाहती है। वह कहना चाहती है की बस अब बहुत हो चुका, कृपा कर अब तो थोड़े संवेदनशील हो जाओ, थोड़ा तो ख्याल करो अपने देश की परंपरा, संस्कृति एवं अभिव्यक्ति की मिली हुई आज़ादी का।

रिपब्लिक टीवी के स्टिंग में भाजपा नंगा… करणी सेना को सरकारों ने दे रखी है हिंसा की खुली छूट

Girish Malviya : लीजिए वही हकीकत सामने आयी है जिसकी आशंका थी… ‘रिपब्लिक टीवी’ द्वारा किये गए स्टिंग में भाजपा के विधायक और महाराष्ट्र विधानसभा में मुख्य सचेतक राज पुरोहित ने कबूला है कि करणी सेना को उन्हीं की सरकार ने खुला छोड़ दिया, ताकि वे लोग राजस्थान में चुनाव जीत सकें… वे कहते हैं कि “सरकार उन्हें नुकसान पहुंचाने के मूड में नहीं है। अगर वाहन फूंके जाते हैं तो ये अच्छा है। भाजपा की अपनी मजबूरी है। यहां समर्थन का सवाल नहीं है। यह मजबूरी है। भाजपा के पास इसके अलावा क्या विकल्प है। वह उनके खिलाफ भी तो नहीं जा सकती? बड़े स्तर पर हिंदू लोग उन्हें समर्थन दे रहे हैं।”

जानिए भंसाली का अंडरवर्ल्ड कनेक्शन…

Surya Pratap Singh : भंसाली का ‘अंडरवर्ल्ड कनेक्शन’….. अंडरवर्ल्ड ने रखी भंसाली के सामने ‘सनातन मान्यताओं’ को ध्वस्त करने की शर्त… भंसाली ने कहा- ’क़ुबूल है, क़ुबूल है, क़ुबूल है’……..१ लाख की पैड-अप कैपिटल वाली कम्पनी बना रही सैकड़ों करोड़ वाले बजट की फ़िल्म… ये सिर्फ़ इस देश में ही सम्भव है जहाँ रातों-रात मालदार होने वालों से सवाल पूछना जुर्म ही नहीं यहाँ तक कि राष्ट्रद्रोह भी घोषित हो सकता है। फ़िल्म निर्माता विधू विनोद चोपड़ा के सहायक की हैसियत से कैसे अंडर वर्ल्ड ने ‘भंसाली’ को बना दिया इतना बड़ा ‘फ़िल्म निर्माता’?

सुदर्शन न्यूज़ का मालिक सुरेश चव्हाण भी ‘भंसाली’ के हाथों बिका : सूर्य प्रताप सिंह

Surya Pratap Singh : पद्मावत की रिलीज़ से पहले की रात तक ख़ूब बिके कई लोग….! नेताओं के मुँह तो अम्बानी की लँगोटी से बँधे हैं …. ऐन मौक़े पर नंगा होता, सुदर्शन न्यूज़ का मालिक सुरेश चव्हाण भी ‘भंसाली’ के हाथों बिका …कल तक जो पद्मावत का विरोध करने वालों को ‘धर्म रक्षक’ कहकर सम्बोधित कर रहा था, आज उसके सुर बदल गए….