जगेन्द्र के परिवार को लालच और धमकियां, डीएम दफ्तर के सामने पत्रकारों ने की तेरहवीं

शाहजहांपुर : पत्रकार जगेंद्र सिंह की मौत के बाद उनके परिवार को धमकी और लालच देने का सिलसिला जारी है। मृतक के परिजनों ने धमकाने की शिकायत पुलिस में दी है। पिछले सात दिनों से धरने पर बैठे परिजनों ने जगेन्द्र का तेहरवीं संस्कार भी कर दिया। जिले के तमाम पत्रकारों ने जिलाधिकारी कार्यालय के सामने जगेन्द्र का तेहरवीं संस्कार किया। इस दौरान पत्रकारों ने हवन पूजन कर 13 ब्राह्मणों को भोजन भी कराया। 

जगेंद्र के पिता सुमेर का कहना है कि बेटे की मौत के 13 दिन बीत जाने के बाद भी मामले में कोई न्याय नहीं मिला है, बल्कि उनके परिवार को पैसों का लालच दिया जा रहा है और बात न मानने पर धमकी दी जा रही है।

सूत्रों के मुताबिक जगेन्द्र के बेहद करीबी वकील ने परिवार से समझौता करने की सिफारिश की, जिसके बाद परिवार के लोग भड़क गए और वकील सहित उनके साथी को वहां से भागने को मजबूर कर दिया। परिवार ने मामले की शिकायत पुलिस से कर दी है। पुलिस ने इस पूरे मामले पर चुप्पी साध रखी है।

उधऱ, हत्या की रिपोर्ट में नामजद आरोपी पर एक पत्रकार को धमकाने का आरोप है। कलक्ट्रेट में पत्रकार संघर्ष समिति द्वारा आयोजित धरना-प्रदर्शन में सहभागिता करने वाले पत्रकार सलमान ने आरोप लगाया है कि वह शनिवार शाम अखबार के दफ्तरों को धरना प्रदर्शन की दैनिक रिपोर्ट देने जेल रोड पर जा रहे थे। इस्लामियां तिराहे से बहादुरगंज की ओर बढ़ने पर जेल के पीछे वाले बर्फखाने के पास खड़े हत्या व गैंग रेप के आरोपी ने अपने एक अन्य साथी के साथ जान से मारने की धमकी दी।। सोमवार को इस संबंध में डीएम और एसपी से शिकायत की जाएगी।  

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

मृत पत्रकार के परिवार को आर्थिक मदद मंजूर, भुगतान शीघ्र

वाराणसी : समाज कल्याण अधिकारी से सूचना के मुताबिक पिछली जाड़ा के दिनों में मृत पत्रकार मदन पाण्डेय के परिवार के लिए आर्थिक सहायता मंज़ूर हो गई है। धनराशि एक सप्ताह में पत्रकार की विधवा के खाते में ट्रांसफर हो जाएगी। 

बताया गया है कि इसके पीछे काशी वार्ता के वरिष्ठ पत्रकार आलोक श्रीवास्तव का प्रयास रहा है। उन्होंने इस सम्बन्ध में आल इंडिया रिपोर्टर्स एसोसिएशन को भी अवगत करवाया और एसोसिएशन के राष्ट्रीय प्रवक्ता तारिक़ आज़मी को मृतक पत्रकार की विधवा ने पत्र प्रेषित कर इस सम्बन्ध में हस्तक्षेप करने का आग्रह किया। संगठन की ओर से तारिक़ आज़मी, ज़ीशान अहमद और राजेंद्र कुमार गुप्त ने प्रयास किया। 

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: