इंडिया न्यूज के बस्ती जिले के रिपोर्टर सतीश श्रीवास्तव सहित पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

बस्ती। नगर थाना क्षेत्र के पोखरनी गांव में धर्मांतरण के नाम पर चैनल की टीआरपी बढ़ाने को लेकर दिखाई गई खबर को जिला प्रशासन ने संज्ञान लिया. जांच कराने पर खबर और प्रकरण फर्जी पाया गया. इसको लेकर जिला प्रशासन ने कड़ा कदम उठाते हुए आपसी सौहार्द बिगाड़ने के मामले में इंडिया न्यूज के रिपोर्टर सतीश श्रीवास्तव सहित पांच लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज करा दिया.

मामला 19 दिसंबर 2014 का है जब बस्ती जिले में तैनात इंडिया न्यूज के रिपोर्टर सतीश श्रीवास्तव अपने चैनल की टीआरपी बढ़ाने के लिए नगर थाना क्षेत्र के पोखरनी गांव के निवासी संतोष कुमार पुत्र राम लखन चमार और गांव के ही विश्वनाथ पुत्र रामचेत के घर पहुंचे और वहां पर मौजूद घर की महिलाओं से पूछा कि तुम लोगों ने मुस्लिम धर्म क्यों अपना लिया है। इस पर महिलाओं ने बताया कि नहीं, हम हिन्दू ही हैं लेकिन हम मजार पर जाकर अपनी आस्था प्रकट करते हैं. इन सभी बात को इंडिया न्यूज के पत्रकार सतीश श्रीवास्तव ने रिकार्ड कर लिया. फिर इसे तोड़मरोड़ कर मजहबी रंग देकर अपने चैनल पर प्रसारित करा दिया.

धर्मांतरण की खबर फ्लैश होते ही जिला प्रशासन के हाथपांव फूल गए और आनन फानन में पोखरनी गांव में जिले के आलाधिकारी पंहुचे. पूरे मामले की जानकारी ली. उन्हें पता चला कि चैनल की टीआरपी बढ़ाने के लिए फर्जी तरीके से खबर को तोड़मरोड़ कर चलाया गया इससे समाज का सौहार्द बिगड़ सकता था. दो समुदायों के बीच कोई भी बड़ी घटना घट सकती थी. वहीं इस झूठी खबर का असर ये हुआ कि हिंदू युवा संगठन ने बाजार बंद कराया. बाद में महिला के पति संतोष की तहरीर पर पुलिस ने इंडिया न्यूज के बस्ती रिपोर्टर सतीश श्रीवास्तव सहित पांच लोगों पर मु0अ0सं0 1436/14 धारा 147, 295ए, 506, व अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति का मुकदमा दर्ज करके पूरे मामले की जांच सीओ कलवारी को सौंप दी है. इस संबध में विवेचक सीओ कलवारी प्रभंस राम ने बताया कि प्रथम दृष्टया आरोप सही है. विवेचना की जा रही है. सारे तथ्यों को इक्ठ्ठा कर कार्यवाही की जाएगी.

बस्ती से राजकुमार की रिपोर्ट. 

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: