पीटीआई यूनियन लीडर एमएस यादव की कारस्तानी : फेडरेशन की एक करोड़ की संपत्ति बेटे को सौंपा!

देश की जानी मानी न्यूज़ एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया की फेडरेशन ऑफ़ पीटीआई एम्प्लाइज यूनियंस के महासचिव महाबीर सिंह यादव पर कई गंभीर किस्म के आरोप लगे हैं. महाबीर सिंह यादव उर्फ एमएस यादव की मनमानी के कई किस्से सामने आ रहे हैं. लगभग एक करोड़ रूपये से अधिक कीमत की फेडरेशन की प्रॉपर्टी को इन महाशय ने गलत तरीके से अपने बेटे के नाम पर करा दिया. एमएस यादव की हरकतों से पीटीआई इंप्लाइज फेडरेशन का अस्तित्व खतरे में है.

आप सभी लोगों को मालूम है कि ‘पीटीआई फेडरेशन’ न्यूज़ पेपर इंडस्ट्री में सबसे प्रभावशाली और ताकतवर यूनियन रही है जिसके बदौलत न सिर्फ वेज बोर्ड की लड़ाइयां लड़ी गईं बल्कि मीडियाकर्मियों के हक-हित की सतत दावेदारी की जाती रही. इन्हीं जैसी यूनियनों के कारण मणिसाना और अब मजीठिया वेजबोर्ड का गठन हुआ. ये वेज बोर्ड लागू हुए और जहां नहीं हुआ उसकी लड़ाई जारी है.

लेकिन इसी पीटीआई फेडरेशन के महासचिव एमएस यादव ने अनैतिक रूप से फेडरेशन की संपत्ति और बैंक में रखे पैसे का दुरूपयोग किया है. इनकी कारस्तानी से फेडरेशन में दरार पैदा हो चुका है. इन सब कुकृत्यों के कारण महासचिव को फेडरेशन प्रेसीडेंट जॉन गोनसाल्वेस ने महासचिव के पद से सस्पेंड करते हुए शो कॉज नोटिस जारी किया. इनसे जवाब माँगा गया. इसका जवाब यादव ने दिया. लेकिन उस जवाब से फेडरेशन प्रेसीडेंट और अन्य पदाधिकारी संतुष्ट नहीं दिखे. प्रेसीडेंट ने फेडरेशन की मीटिंग में महासचिव द्वारा प्रॉपर्टी और पैसों का हिसाब न देने पर कानूनी कार्यवाही करके सारा पैसा वसूलने की तैयारी की है.

पढ़ें-देखें कुछ संबंधित दस्तावेज….


गुरु दास की रिपोर्ट. संपर्क : gurudas929@gmail.com

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: