‘हंस’ को राजेंद्र यादव के निधन के साथ ही बंद हो जाना चाहिए था!

Abhishek Srivastava ‘हंस’ के कंस! ‘हंस’ को राजेंद्र यादव के निधन के साथ ही बंद हो जाना चाहिए था। राजेंद्रजी के जीवित रहते भी हिंदी पर्याप्‍त गरीब थी, लेकिन उनकी उपस्थिति इस बात का प्रमाण थी कि हिंदी में पब्लिक इंटेलेक्‍चुअल के नाम पर कम से कम एक बड़ा आदमी तो है। वे गए और …

संगम पांडेय, शिल्पी गुप्ता, अभिनय, सीपी शुक्ला, सुधीर द्विवेदी, योगेश पढियार के बारे में सूचनाएं

साहित्यिक मैग्जीन ‘हंस’ से सूचना मिली है कि यहां कार्यकारी संपादक के रूप में कार्यरत वरिष्ठ पत्रकार और लेखक संगम पांडेय ने इस्तीफा दे दिया है. सूत्रों का कहना है कि ‘हंस’ के संचालन समेत कुछ मुद्दों को लेकर प्रबंधन से मतभेद के बाद संगम ने खुद ही इस्तीफा दे दिया. संगम पांडेय स्टार न्यूज समेत कई न्यूज चैनलों और अखबारों में वरिष्ठ पदों पर काम कर चुके हैं.