हरदा रेल हादसा प्राकृतिक था तो पुल-पटरियां भगवान ही बचाए

एक ओर मीडिया की आंखों से देश को दिखाया जा रहा एक लाख करोड़ की बुलेट ट्रेन का सपना। दूसरी ओर एक ही रात में दो दो ट्रेन हादसे, दर्जनों लोगों की मौत। अंग्रेजों के ज़माने के रेलवे पुल, जर्जर पटरियां और लचर परिचालन। इतने बड़े देश के रेलवे की गिनती दुनिया की सबसे घटिया रेल व्यवस्था में। रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा कह रहे हैं कि हरदा ट्रेन हादसा प्राकृतिक था। ये तो वही बात हुई कि प्राकृतिक आपदा है तो पुल और पटरियां भगवान ने बनाई थीं, वही जाने ? रेल मंत्रालय बुलेट ट्रेन चलायेगा हवा में।