‘स्वर्ण-बैच’ दीक्षांत समारोह में आईआईएमसी किसी कायदे के मुख्य अतिथि को आमंत्रित करने पाने में असफल

आईआईएमसी के ‘स्वर्ण-बैच’ का दीक्षांत समारोह होना सुनिश्चित हो गया है। लम्बे अरसे के बाद यह फैसला लिया गया है। प्रतीत होता है की आईआईएमसी के स्तम्भ इस क़दर कमज़ोर हो गए हैं कि अब इसे इतराना नहीं आता, उम्मीद है कि कोई सिकन्दर इसे अपना लक्ष्य भी बना बैठे। आलम यह है कि एक तो इतनी लतीफी के बाद दीक्षांत समारोह होना सुनिश्चित हो पाया हो, उसमें भी पंगु प्रशासन ने किसी क़ायदे के मुख्य अतिथि को आमंत्रित कर पाने में अपनी असफलता का परिचय दिया है।

आईआईएमसी में मैग्सैसे अवार्ड विजेता अंशु गुप्ता का सम्मान समारोह

नई दिल्ली, 5 सितंबर, 2015. रैमन मैग्सैसे अवार्ड विजेता और गूंज के संस्थापक अंशु गुप्ता का आईआईएमसी में सम्मान किया गया. श्री गुप्ता आईआईएमसी के एलुम्नाई हैं और समारोह का आयोजन आईआईएमसी एलुम्नाई एसोसिएशन ने किया था. सम्मान समारोह में आईआईएमसी की सहपाठी और पत्नी मीनाक्षी गुप्ता के साथ पहुंचे श्री गुप्ता को आईआईएमसी के महानिदेशक सुनीत टंडन, एलुम्नाई एसोसिएशन की अध्यक्ष सुनीला धर और संस्थान की शिक्षिका प्रो. जयश्री जेठवानी ने सम्मानित किया.