सामंती, मध्यवर्गीय टुच्चई से ओतप्रोत विशिष्ट पत्रकारों को काबिलियत का गुमान

पत्रकार : अच्छा ख़ासा वक़्त (कोई एक दशक) vernacular media में 1984-1993 तक अपना भी गुज़रा । फिर व्यावसायिक ज़िम्मेदारियों ने मैदान से बाहर कर दिया और जब लौटने लायक हालात हुए तो तकनीक ने outdated कर दिया । अब हमें replace कर चुकी पीढ़ी का युग है और हम संस्मरण दर्ज करने की उम्र/स्थिति में । फ़ेसबुक ने पुन: इस जलवागार में साँस लेने की जगह दे दी ।

जिंदगी की जंग लड़ रहे पत्रकार की भाजपा विधायक ने की मदद, सपा सरकार बेखबर

लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी के विधायक सत्यदेव पचौरी ने गत दिनो संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) में अपना इलाज करा रहे वरिष्ठ पत्रकार उदय यादव से भेंट कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्राप्त की। उदय को दोनों किडनियां खराब होने के बाद इलाज के लिए भर्ती किया गया है। वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके दूसरे मंत्रियों ने उदय की ओर ध्यान तक नहीं दिया है।