कानपुर प्रेस क्लब यानि फर्जी मेम्बरों का जमावड़ा

कानपुर प्रेस क्लब हथियाने वालों ने बनाये फर्जी पत्रकार…. कराई फर्जी वोटिंग… अंगूर बेचने वाला, वकील, दर्जनों मुकदमों में केस लड़ रहे लोग, प्रॉपर्टी डीलर, गुमटी मार्केट के कई दुकानदार, पढ़ाई कर रहे स्टूडेंट, व्हाट्सअप पर ग्रुप बनाकर खुद को पत्रकार बताने वाले, चैनल के बाहर वाहनों का स्टैंड चलाने वाला, रिसेप्शन की जिम्मेदारी सँभालने वाला, चपरासी, चाय वाले आदि अब पत्रकार बन चुके हैं. ये सब कानपुर प्रेस क्लब के सदस्य हैं. मेम्बरशिप लिस्ट में इन लोगों का नाम चढ़ाकर इन्हें पत्रकारों के हर एक वो अधिकार सौंप दिए गए हैं, जिससे वह अपने आपको किसी से भी पत्रकार कह सकता है लेकिन पत्रकारिता नहीं कर सकता है.

कानपुर में एक और प्रेस क्लब का गठन, कृष्ण कुमार सिंह अध्यक्ष बने

गणेश शंकर विद्यार्थी की कर्मस्थली कानपुर में पत्रकारों ने मिलकर कानपुर प्रेस क्लब का गठन किया. प्रेस वार्ता के दौरान अध्यक्ष कृष्ण कुमार सिंह गौर और उपाध्यक्ष मयंक शुक्ला ने बताया हमारा उद्येश सभी पत्रकारों के सम्मान, सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा के लिए संग़ठन से आगे एक परिवार की तरह काम करना है. कानपुर प्रेस क्लब अन्य सभी पत्रकार संगठनों के साथ मिलकर पत्रकारपुरम के लिए मुख्यमंत्री को जल्द ही ग्यारह सूत्री ज्ञापन सौंपेगा. अगली बैठक में जल्द ही सभी पत्रकारों के साथ मिलकर कानपुर प्रेस क्लब का विस्तार किया जाना सुनिश्चित किया गया है.