उत्तराखंड में खनन माफिया बेलगाम, दो पत्रकारों पर किया जानलेवा हमला

रामनगर (उत्तराखंड) : खनन माफिया राज्य में बेलगाम हैं। आये दिन ग्रामीणों पर हमले हो रहे हैं। कई बार पुलिस वालों पर भी हमला कर चुके हैं। हालात यह हैं कि अवैध खनन पर विधान सभा में तनातनी के समय मुख्यमंत्री नाम खोलने की बात कहते हैं लेकिन इस पर बोलते-बोलते नामों पर आकर उनकी बोलती बंद हो जाती है। चारों ओर माफिया का राज है। राज्य सरकार माफिया के दबाव में है इसे सर्वत्र अनुभव किया जा रहा है। हजारों-हजार एकड़ जमीनों को उजाड़कर दिन-रात खनन किया जा रहा है। इससे पर्यावरण, खेती और समाज को भारी हानि हो रही है, इस अनैतिक कार्य के खिलाफ जो भी आवाज उठाता है उसे माफिया के कोप का भाजन बनना पड़ता है।

खनन माफिया के हमले में घायल पत्रकार अधिवक्ता प्रभात ध्यानी का इलाज करते चिकित्सक