‘प्रयुक्ति’ अखबार का मालिक संम्पथ अपने कर्मियों और प्रिंटर का 60 लाख रुपये हजम कर गया!

Mukund Mitr  सम्पथ कुमार सूरप्पगारि के झूठ दर झूठ… सम्पथ कुमार सूरप्पगारि याद आया कुछ… अपना कथन याद करो। नीयत में कचरा में है तो झोले में पत्थर। कर्मचारियों और प्रिंटर्स का मोटा पैसा करीब 60 लाख रुपये हजम कर गए हो। अनगिनत चेक बाउंस हो गए हैं। गरीब चपरासियों को खून के आंसू रुलाये …