आस्था और फंतासी के बीच ओरछा

हाल ही ओरछा से लौटा। दिल-ओ-दिमाग में रामराजा के मंदिर व जहांगीर महल की ताजा छवियों को लिए हुए। नव घोषित झाँसी से राँची राष्ट्रीय राजमार्ग से। यह राजमार्ग अपने लिए भावनात्मक इसलिए भी क्योंकि इतिहास के कूड़ेदान में डाल दिए गए विन्ध्यप्रदेश के ओर- छोर को जोड़ता है। एक छोर ओरछा का तो दूसरा  सिंगरौली का। ओरछा विन्ध्यप्रदेश की सांस्कृतिक व साहित्यिक राजधानी रहा है। विन्ध्यप्रदेश के जमाने में साहित्य के लिए दिया जाने वाला देव पुरस्कार यहाँ के लिए ग्यानपीठ पुरस्कार ही था।

रामराजा का शहर ‘ओरछा’ यानि ऐतिहासिक आख्यानों वाला एक अदभुत स्थान (देखें वीडियो)

ओरछा वैसे तो मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले का कस्बा है लेकिन यह यूपी के झांसी जिला मुख्यालय से मात्र 17 किलोमीटर की दूरी पर है. इस कस्बे में दर्जनों ऐतिहासिक आख्तानों के सजीव चिन्ह मिलते हैं. भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह विकास संवाद द्वारा आयोजित मीडिया कानक्लेव में शिरकत करने पहुंचे तो उन्होंने ओरछा …