पत्रकार की कलम न रुकनी चाहिए, न झुकनी चाहिए : राधेश्याम

पंचकूला : कलम न रुकनी चाहिए और न झुकनी चाहिए, कलम न अटकनी चाहिए और न ही भटकनी चाहिए। एक पत्रकार की सबसे बड़ी पूंजी होती है उसकी कलम। ये सहज उदगार व्यक्त कर रहे थे माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय भोपाल के संस्थापक कुलपति राधेश्याम शर्मा। अवसर था आदि पत्रकार देवर्षि नारद की जयंती।