पेंशन : एचटी वाले को 1400 रुपये, डीडीए के माली को 1800!

Vivek Shukla : अभिषेक भाई, पत्रकारों की हालत को बताने के लिए खराब से बढ़कर भी कोई शब्द हो तो उसका इस्तेमाल किया जा सकता है। कुछ दिन पहले अपने हिन्दुस्तान टाइम्स के एक पुराने साथी मिले। बताने लगे कि उन्हें हर माह 1400 रुपये पेंशन मिलती हैं। उससे पहले मुझे डीडीए के दफ्तर में एक माली मिले,जो वहां पर अपने साथियों से मिलने आए थे, बातों-बातों में बताने लगे कि उन्हें 1800 हजार रुपये पेंशन मिलती हैं।

पत्रकार विवेक शुक्ला ने उपरोक्त टिप्पणी फेसबुक पर प्रकाशित की है.

मूल पोस्ट…

टीवी पत्रकारों की हालत लेबर से भी ज्यादा खराब…

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

भाजपा का चुनावी वादा, सत्ता में आने पर महाराष्ट्र के पत्रकारों को मिलेगी पेंशन

महाराष्ट्र बीजेपी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में राज्य के वयोवृध्द पत्रकारों को हर माह 1500 रूपये पेन्शन देने का वादा किया है। महाराष्ट्र पत्रकार हमला विरोधी कृती समिती के ओर से राज्य के सभी प्रमुख राजनैतिक दलों को एक पत्र लिखकर पत्रकारो के मांगों के विषय में अपनी भूमिक चुनाव घोषणा पत्र के माध्यम से स्पष्ट करने की मांग की थी।

महाराष्ट्र पत्रकार हमला विरोधी कृती समिती की इसी मांग के चलते आज बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में पत्रकार पेन्शन योजना शुरू करने का आश्वासन दिया है। समिती के अध्यक्ष एस.एम. देशमुख ने बीजेपी की इस घोषणा का स्वागत किया है।

उन्होने कहा कि बीजेपी ने 1500 रूपये पेन्शन देने की बात कही है। यह रकम पर्याप्त नहीं है, इस पर चर्चा हो सकती है लेकिन बीजेपी ने यह बात मान ली है इसका स्वागत होना चाहिए।

देशमुख ने इस बात पर दुख जताया कि पत्रकार सुरक्षा कानून के विषय में बीजेपी ने कोई वादा नहीं किया है।

शिवसेना का चुनाव घोषणा पत्र भी जारी कर दिया गया है लेकिन इसमें पत्रकारों की मांगे अनदेखी की गई है। कांग्रेस, एनसीपी, एमएनएस ने भी पत्रकारों के मांगो के विषय में अपने घोषणा पत्रों में कोई आश्वासन नहीं दिया है।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: