ये मीडिया को ‘विलेन बनाने’ का दौर है

Dilnawaz Pasha : ये मीडिया को ‘विलेन बनाने’ का दौर है. भारत में ‘प्रेस्टीट्यूट’ शब्द को स्वीकार कर लिया गया है और एक धड़ा जमकर इसका इस्तेमाल कर रहा है. सरकार ने मंत्रालयों में पत्रकारों की पहुंच कम कर दी है. यहां तक कि प्रधानमंत्री अपनी यात्राओं में पत्रकारों को साथ नहीं ले जा रहे हैं, जैसा कि पहले होता था.

मतंग सिंह और मनोरंजना के ठिकानों पर सीबीआई ने मारे छापे

Matang Singh

एक बड़ी खबर मीडिया इंडस्ट्री से आ रही है. पूर्व केंद्रीय मंत्री और पाजिटिव मीडिया के संस्थापक मतंग सिंह और उनकी पत्नी मनोरंजना के ठिकानों पर केंद्रीय जांच ब्यूरो की टीमों ने छापेमारी की है. बताया जाता है कि ये छापेमारी सारदा चिटफंड मामले में की गई है. सीबीआई की टीमों ने कुल 28 जगहों पर छापे मारे हैं. सारदा चिटफंड का काफी कुछ पैसा मतंग और मनोरंजना द्वारा हजम किए जाने का आरोप है.