यूट्यूब खबरिया चैनलों की बाढ़, जहां देखो डंडे पर माईक लगाकर मीडिया वाले बने बैठे हैं…

फर्जी चैनलों की बाढ़, सरकारी अंकुश नहीं, शातिर मालिक सैलरी नहीं देते… यूट्यूब खबरिया चैनलों की बाढ़ आई हुई है, जहा देखो डंडे पर माईक का डंडा लगाकर कथित शातिर मालिक जनता, सरकार, पुलिस प्रशासन को बेवकूफ बना रहे हैं… हालांकि सरकार ने इन्हें किसी तरह की परमिशन नहीं दी हुई है लेकिन फिर भी …

‘नवोदय टाइम्स’ के कुमार गजेन्द्र, सतेंद्र त्रिपाठी, सज्जन, निहाल सहित 8 पत्रकारों ने पंजाब केसरी ज्वाइन किया

दो संस्थानों की आपसी पारिवारिक लड़ाई में अच्छे पत्रकारों का फायदा हुआ है. उन्हें तगड़ी सैलरी पर परिवार के ही दूसरे संस्थान ने अपने पास रखा है. पंजाब केसरी के एक मालिक ने दिल्ली में अपना दैनिक अखबार नवोदय टाइम्स के नाम से शुरू किया है. इस अखबार की क्राइम टीम को उनके परिवार के दूसरे ग्रुप यानि दिल्ली वाले पंजाब केसरी के मालिक ने अपने यहां ऊंची तनख्वाह पर रख लिया है.