राज्यसभा टीवी ने कैग के आरोपों को गलत करार दिया, अब तक 1700 करोड़ ठिकाने लगाने का था आरोप

नई दिल्ली : कैग ने राज्यसभा टेलीविजन के संचालन को लेकर कुछ सवाल खड़े किए हैं। कैग ने अपने रिपोर्ट में कहा है कि राज्यसभा टीवी चैनल के पास कोई रोडमैप नहीं है और साथ ही साथ संसद के दोनों सदनों के लिए अलग—अलग चैनल होने के औचित्य पर भी प्रश्न खड़ा किया है। राज्यसभा टीवी ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा है पिछले चार सालों में कुल खर्च केवल 146.7 करोड़ रुपए हुआ, जिसमें सैलरी, किराया, कैपिटल कॉस्ट और ऑपरेशनल एक्सपेंसेज शामिल हैं। 1700 करोड़ रुपए का आंकड़ा मात्र एक कल्पना है।