‘एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ फिल्म कैसी लगी वरिष्ठ पत्रकार राजेश बादल को, पढ़ें

आज सुबह एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर देखी। राजनीति की बात न करूँ तो भी कुछ मुद्दे इस फ़िल्म के बेहद गंभीर हैं। कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

राजेश बादल ने राज्यसभा टीवी को नमस्ते करते हुए कहा- ”सौ फ़ीसदी निष्पक्षता नाम की कोई चीज़ नहीं होती”

Rajesh Badal : नमस्ते! राज्यसभा टीवी… एक न एक दिन तो जाना ही था। हाँ थोड़ा जल्दी जा रहा हूँ। सोचा था जून जुलाई तक और उस चैनल की सेवा कर लूँ, जिसे जन्म दिया है। लेकिन ज़िंदगी में सब कुछ हमारे चाहने से नहीं होता। कोई न कोई तीसरी शक्ति भी इसे नियंत्रित करती है। आप इसे नियति, क़िस्मत, भाग्य या भगवान-कुछ भी कह सकते हैं। सो यह अवसर फ़रवरी में ही आ गया।