उमेश उपाध्याय ने आईबीएन7 का सत्यानाश कर दिया, कइयों को इधर-उधर फेंका, देखें लिस्ट

मुकेश अम्बानी के चैनल टेक ओवर करने के बाद ibn7 की टीआरपी दूरदर्शन के आसपास है। जबसे उमेश उपाध्याय ने इस आईबीएन7 चैनल की कमान संभाली है, उसकी पूरी कोशिश चैनल को बर्बाद करने की है। अगर आशुतोष और राजदीप ने सैकड़ों की नौकरी खाकर पेट पे लात मारी तो देश के सबसे बड़े बिज़नेस ग्रुप के चैनल ने एक-एक करके पत्रकारों से रोज़ी लेने का काम शुरू किया है। उदाहरण देकर बात करते हैं। ब्रिज दुग्गल 1.75 लाख रुपये प्रति माह की तनख्वाह लेकर पूरे असाइनमेंट का कामकाज सँभालते थे। उमेश ने उनका तबादला रांची कर दिया। जब दुग्गल ने पूछा कि क्या आप रांची में पौने दो लाख का रिपोर्टर रखेंगे तो उन्हें बोला गया- हाँ, हम इस चाहते हैं।