सोमवार को सर्वर क्‍या बैठा, जागरण प्रबंधन का तो जैसे आत्‍मविश्‍वास ही बैठ गया

सोमवार को दिन में दैनिक जागरण की नोएडा यूनिट का सर्वर बैठ गया और चापलूसी का रिकार्ड बना चुके प्रबंधकों की रूह कांप गई। उन्‍हें लगा कि हड़ताल के भूकंप का यह पहला झटका है। फिर क्‍या था, आनन फानन में पुलिस बुला ली गई। दरअसल, जब मन में चोर बसा होता है तो ऐसा ही होता है। प्रबंधकों को यह पता है कि उन्‍होंने क्‍या क्‍या गुनाह किए हैं, किस प्रकार कर्मचारियों को पाई पाई के लिए तरसाया है, किस तरह भेदभाव करके काबिल लोगों को कुंठित किया है।