एसएमबीसी इनसाइट- चैनल एक, दावेदार अनेक… सो रहे हैं सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अफसर

नई दिल्ली । अक्सर ऐसी खबरें सुनने और पढ़ने में आती रहती है जब कोई दलाल या जमीन मालिक एक ही प्लॉट कई लोगों को धोखे में रखकर बेच डालता है और फिर जब उनमें से कोई एक प्लॉट की चारदीवारी कराना शुरू करता है तो प्लॉट के दूसरे मालिक भी अपने अपने कागज लेकर सामने आ खड़े होते हैं। लेकिन तब तक जमीन मालिक या दलाल उनका पैसा लेकर रफूचक्कर हो चुका होता है। लेकिन क्या आप अंदाजा लगा सकते हैं कि टीवी चैनलों की दुनिया में भी इन दिनों ऐसा खेल खूब चल रहा है। सूचना प्रसारण मंत्रालय के अधिकारी आंखें मूंदे बैठे हैं। कहने को सरकार ने न्यूज चैनलों का लाइसेंस देने के लिए कड़े नियम कानून बना रखे हैं लेकिन मंत्रालय में सक्रिय दलालों और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के कुछ अधिकारियों की मिलीभगत से कुछ न्यूज चैनलों का लाइसेंस ऐसे लोगों के हाथों में चला आया है, जिनके ऊपर कई संगीन आरोप हैं। आश्चर्य नहीं, अगर कभी यह खबर सामने आये कि किसी चैनल का संचालन कोई अंडरवर्ल्ड का डॉन कर रहा है।

एसएमबीसी इनसाइट चैनल का लाइसेंस रद्द करने के लिए मंत्रालय के सचिव को भेजा पत्र

सेवा में,
सचिव
सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय
ए विंग, शास्त्री भवन
नई दिल्ली

विषय : एसएमबीसी इनसाइट चैनल द्वारा अपलिंकिंग/डाउनलिंकिंग दिशानिर्देशों के उल्लंघन के संदर्भ में

महाशय,

उपरोक्त विषय के संदर्भ में सूचित करना है कि सी मीडिया सर्विस प्रा. लि. द्वारा संचालित न्यूज चैनल एसएमबीसी इनसाइट लगातार सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के अपलिंकिंग/ डाउनलिंकिंग के लिए तय दिशा निर्देशों का उल्लंघन कर रहा है। इस संदर्भ में मैं आपका ध्यान निम्न बिन्दुओं की तरफ दिलाना चाहता हूं…