जिम्मेदार नागरिक बनने की खता, कॉर्पोरेट वॉर का मोहरा बन गया एक युवा

16 मार्च 2013 को मुझे मेरे मोबाइल में एक मैसेज मिला जिसके अंत में ‘’दिल्ली पुलिस’’ और NDTV लिखा था ..जिसमें ज़िक्र था कि फ्रूटी के किसी ख़ास बैच में किसी HIV पीड़ित कर्मचारी का खून गलती से चला गया है..इसीलिए 25 दिनों तक फ्रूटी न पिए और कृपया इस सन्देश को ज्यादा अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाएं। नागरिक कर्तव्य को निभाते हुए इस सन्देश को गूगल पे सर्च किया तो तमाम मैसेज मिले…और मुझे कुछ हद तक बात सच्ची लगी।…तो मैंने इसे अपनी फेसबुक की वॉल पर मोबाइल मैसेज को शेयर किया। 

सहारा समय चैनल ने दिया चुनाव में वसूली का टार्गेट

झारखण्ड में चल रहे विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र मीडिया में चुनावी खर्चे की वसूली की चर्चा शुरू हो गयी है। इस कड़ी में सबसे बड़ा नाम है इन दिनों विवादों से ग्रस्त कंपनी के चैनल सहारा समय बिहार झारखण्ड का। विगत चार नवम्बर को रांची कार्यालय में हुई बैठक में सभी रिपोर्टरों को चुनाव में टार्गेट का टास्क दिया गया था। इस बैठक में बिहार झारखण्ड के चैनल हेड भी उपस्थित थे।