इंडिया टीवी फिर बना नंबर वन, न्यूज नेशन और न्यूज24 भी उछले

42वें हफ्ते की नेशनल हिंदी न्यूज चैनलों की टीआरपी देखने से पता चलता है कि इंडिया टीवी फिर से नंबर एक पर पहुंच गया है. आजतक को दो नंबर पर संतोष करना पड़ रहा है. एबीपी न्यूज नंबर तीन पर है. चौथे नंबर से खिसक कर जी न्यूज पांचवें पर चला गया है और चौथे नंबर पर आ गया है न्यूज नेशन. उछाल की बात करें तो न्यूज नेशन की तरह न्यूज24 ने भी छलांग लगाई है. इसने इंडिया न्यूज को पछाड़ कर छठें नंबर पर कब्जा किया है. इंडिया न्यूज को सातवें नंबर पर जाकर संतोष करना पड़ रहा है.

टीआरपी : 41वां सप्ताह : आजतक फिर नंबर वन, एनडीटीवी ठिकाने लगा, न्यूज नेशन ने जी न्यूज को पीटा

41वें सप्ताह की टीआरपी में कई उलटफेर देखने को मिल रहे हैं. आजतक लगातार पिट रहा था लेकिन अबकी वह फिर नंबर एक पर आ गया है, लेकिन बहुत थोड़े ही फासले से. नंबर एक आजतक और नंबर दो इंडिया टीवी के बीच बस 0.4 का फासला है. जी न्यूज नंबर दो पर हुआ करता था लेकिन यह ऐसा नीचे गिरा कि सीधे पांचवें पोजीशन पर जाकर रुका.

जी न्यूज और आजतक दोनों बने नंबर वन, आईबीएन7 ने इंडिया न्यूज और न्यूज24 दोनों को पछाड़ा

39वें हफ्ते की टीआरपी में कई बड़े उतार चढ़ाव देखने को मिल रहे हैं. जी न्यूज ने नंबर वन की पदवी हासिल की है. हालांकि आजतक भी जी न्यूज के ही बराबर है पर दोनों का नंबर वन पद पर संयुक्त दावा बड़ा संकेत है. आजतक की गिरती टीआरपी के कारण कोई भी चैनल उसका नंबर वन का स्थान हासिल कर ले रहा है. उधर, एक बड़ा कमाल आईबीएन7 ने किया है. इस चैनल ने न्यूज24 और इंडिया न्यूज, दोनों को पछाड़ते हुए आश्चर्यजनक रूप से लंबी छलांग लगाई है. चैनलों की टीआरपी लिस्ट इस प्रकार है…

इंडिया टीवी नंबर वन की गद्दी पर कायम, आजतक का लुढ़कना जारी, जी न्यूज अब भी एबीपी न्यूज से है आगे

हिंदी न्यूज चैनलों की टीआरपी रेटिंग में उथलपुथल कायम है. इंडिया टीवी लगातार नंबर वन न सिर्फ बना हुआ है बल्कि उसने नंबर दो आजतक से फासला काफी बढ़ा लिया है. इसी तरह जी न्यूज ने नंबर तीन की गद्दी से एबीपी न्यूज को खदेड़ रखा है. उधर, न्यूज नेशन ने इंडिया न्यूज को पछाड़कर नंबर पांच की कुर्सी हथिया ली है. न्यूज24 की टीआरपी गिरी है लेकिन यह आईबीएन7 से अब भी आगे है. देखें 38वें हफ्ते का टीआरपी चार्ट…

37वें हफ्ते की टीआरपी : आंकड़ों में उलटफेर जारी, आजतक नंबर तीन पर गिरा

37वें हफ्ते की टीआरपी में अलग अलग कैटगरी में अलग अलग आंकड़ें हैं. किसी में आजतक नंबर वन पर है तो किसी में नंबर तीन पर. कहीं जी न्यूज नंबर दो पर है तो कहीं चार पर. नीचे के सारे आंकड़े देखिए और खुद एनालाइज करिए. पर जो 15+ के आंकड़े हैं, जिसे ही आधार मानकर टीआरपी एनालाइज किया जाता है, उसमें इंडिया टीवी नंबर वन पर है. जी न्यूज नंबर दो पर. आजतक को तीसरे नंबर पर संतोष करना पड़ा है. इसके पहले वाले हफ्ते जी न्यूज नंबर एक पर था. वहीं एबीपी न्यूज खिसक कर नंबर चार पर पहुंच गया है. इंडिया न्यूज की टीआरपी गिरी है लेकिन वह न्यूज नेशन से अब भी आगे है.

सुधीर चौधरी ने जी न्यूज को टीआरपी में बनाया नंबर वन, आजतक नंबर तीन पर सरका

36वें हफ्ते की टीआरपी में बहुत बड़ा उलटफेर दिख रहा है. जी न्यूज नंबर वन पर पहुंच गया है. पूरे 1.3 के उछाल से जी न्यूज 13.5 के साथ नंबर वन पर है. इंडिया टीवी नंबर दो पर है जिसे 1.4 का नुकसान उठाना पड़ा है. आजतक जो नंबर वन हुआ करता था, इस बार तीसरे नंबर पर सरक गया है. चौथे नंबर पर एबीपी न्यूज है और पांचवें पर इंडिया न्यूज. जी न्यूज के नंबर वन होने की वजह सुधीर चौधरी का शो डीएनए है जिसकी टीआरपी सबसे ज्यादा है, लगभग 27 के आसपास. सुधीर चौधरी के साथ-साथ डीएनए शो के प्रोड्यूसर को भी इस सफलता का क्रेडिट दिया जाना चाहिए जो पर्दे के पीछे रहकर पूरे शो की स्क्रिप्टिंग से लेकर कांसेप्ट तक तैयार करता है.

इंडिया टीवी ने आजतक को और इंडिया न्यूज ने न्यूज नेशन को पीटा

35वें हफ्ते की टीआरपी में इंडिया टीवी फिर नंबर वन हो गया. आजतक ने पूरे दो प्वाइंट गोता लगाया और इंडिया टीवी ने एक प्वाइंट की उछाल ली. इस कारण आजतक की कुर्सी खिसक गई. उधर, इंडिया न्यूज ने न्यूज नेशन की बीट कर दिया और इस तरह अपने पांचवें स्थान को फिर से हासिल कर लिया है. एबीपी न्यूज और जी न्यूज यथास्थान हैं. आजतक के यदा कदा इंडिया टीवी से पिछड़ने के बारे में आजतक चैनल से जुड़े सूत्र बताते हैं कि इन दिनों हैथवे के प्लेटफार्म पर आजतक नहीं दिखाया जा रहा है. वजह है सोनी से हैथवे का कोई विवाद. आजतक के डिस्ट्रीव्यूशन का सारा कामकाज सोनी के हवाले है. इस सोनी-हैथवे जंग में आजतक की टीआरपी पर गंभीर असर पड़ रहा है.

टीआरपी के आंकड़े यूं हैं…

IBN7 पिछले साल सबसे तेजी से बढ़ने वाला खबरिया चैनल बना!

टीवी न्यूज चैनलों में गलाकाट प्रतियोगिता के बीच आईबीएन 7 लगातार अपनी स्थिति मजबूत बनाता जा रहा है। पिछले साल जुलाई में नए मैनेजमेंट ने कमान संभाली थी जिसके बाद हालात काफी बेहतर हुए हैं। आंकड़े गवाह हैं कि जुलाई 2015 में चैनेल 4 से 4.5 फीसदी की टीआरपी के साथ बुरी हालात में था जबकि पिछले मौजूदा दौर में आईबीएन7 की टीआरपी लगातार 6 फीसदी से ऊपर बनी हुई है। टीआरपी मीटर पर नजर डाले तो पिछले करीब एक साल में IBN-7 ने तकरीबन 40 फीसदी का उछाल दर्ज किया है जो अपने आप में बाजार में उसकी मजबूत होती स्थिति को बयान कर रहा है। यही नहीं पिछली जुलाई के आसपास IBN-7 न्यूज चैनेल्स की टीआरपी में 10वें नंबर पर हुआ करता था। टीआरपी मीटर में IBN 7 की हैसियत एनडीटीवी से भी कम हुआ करती थी जबकि मौजूदा दौर में IBN-7 सातवें नंबर पर लगातार जमा हुआ है।

न्यूज24 को सबसे ज्यादा फायदा लेकिन टॉप टेन में कोई फेरबदल नहीं

34वें हफ्ते की बार्क की टीआरपी में कोई खास बदलाव नहीं दिख रहा है. सब अपनी अपनी जगह कायम हैं. सबसे ज्यादा टीआरपी वाइज न्यूज24 को हुआ है लेकिन इससे उसे सातवें स्थान से उठकर छठें स्थान आने में सफलता नहीं मिल पाई है. वह इसके पहले वाले हफ्ते भी सातवें पर था और इस हफ्ते भी सातवें पर है. आजतक से लेकर इंडिया टीवी, एबीपी न्यूज, जी न्यूज, इंडिया न्यूज, न्यूज नेशन सबकी टीआरपी में कम या ज्यादा गिरावट आई है, इसके बावजूद सब अपनी अपनी जगह पर कायम हैं.

आजतक, जी न्यूज और इंडिया न्यूज की बल्ले-बल्ले, न्यूज24 और आईबीएन7 के बुरे दिन जारी

33वें हफ्ते की बार्क की टीआरपी के आंकड़े बताते हैं कि आजतक और जी न्यूज को जबरदस्त फायदा पहुंचा है. दोनों ने लगभग डेढ़ अंक अपनी टीआरपी में जोड़कर क्रमश: पहला और चौथा स्थान हासिल कर लिया है.

इंडिया टीवी और आजतक, दोनों ही खुद को बता रहे नंबर वन!

32वें हफ्ते की बार्क की टीआरपी ने नया सीन क्रिएट कर दिया है. आंकड़ों को अपने अपने हिसाब से पेश कर इंडिया टीवी और आजतक दोनों ही खुद को नंबर वन बता रहे हैं.

‘इंडिया टीवी’ के चरम पतन से ‘आजतक’ खुद ब खुद फिर बन गया नंबर वन, देखें टीआरपी

इंडिया टीवी कई हफ्तों से नंबर वन पर था. लेकिन इस बार यह चैनल खुद इतना नीचे गिर गया कि आजतक नंबर एक की पोजीशन पर आ गया. इस हफ्ते सबसे ज्यादा इंडिया टीवी को नुकसान हुआ है और पूरे 3 अंक नीचे गिरकर 14 अंकों के साथ नंबर दो की पोजीशन पर लुढ़क गया है. आजतक ने 0.8 की मजबूती के साथ कुल 17 अंकों के जरिए नंबर एक की पोजीशन कब्जा ली है.

टीआरपी 7वां सप्ताह : इंडिया टीवी और न्यूज नेशन का पतन जारी

इस साल के सातवें हफ्ते की टीआरपी देखने से पता चलता है कि दो न्यूज चैनलों का पतन जारी है. इंडिया टीवी पर मोदी भक्ति का जो लेबल चिपका है, उसके कारण अब इस चैनल की दुर्गति शुरू हो गई है. मोदी से हाल के दिनों में जनता का तेजी से मोहभंग हुआ है और यह मोहभंग मोदी परस्त न्यूज चैनल इंडिया टीवी से भी दिख रहा है. इस हफ्ते टीआरपी के हिसाब से सबसे ज्यादा नुकसान इंडिया टीवी को हुआ है. कुल 1.4 टीआरपी में कमी आई है.

साल के शुरुआती हफ्ते में ‘आजतक’ और ‘एबीपी न्यूज’ को तगड़ा नुकसान, ‘न्यूज नेशन’ को सर्वाधिक फायदा

नए साल का पहला हफ्ता टीआरपी के मामले में कई बड़े और जमे जमाए चैनलों के लिए नुकसानदायक रहा तो एक नए चैनल के लिए फायदेमंद रहा. आजतक और एबीपी न्यूज को तगड़ा झटका लगा है. हालांकि ये दोनों चैनल अपनी अपनी जगहों यानि नंबर एक और नंबर तीन पर कायम हैं लेकिन इनकी टीआरपी काफी गिरी है. आजतक की टीआरपी गिरने से इंडिया टीवी से उसका फासला काफी कम हो गया है. अगर अगले हफ्ते आजतक थोड़ा और गिरा व इंडिया टीवी थोड़ा बढ़ गया तो आजतक नंबर दो पर जा सकता है और इंडिया टीवी नंबर एक का पद पा सकता है. नए चैनल न्यूज नेशन को सबसे ज्यादा फायदा हुआ है. नए साल के पहले हफ्ते की टीआरपी इस प्रकार है….