सुधीर चौधरी ने जी न्यूज को टीआरपी में बनाया नंबर वन, आजतक नंबर तीन पर सरका

36वें हफ्ते की टीआरपी में बहुत बड़ा उलटफेर दिख रहा है. जी न्यूज नंबर वन पर पहुंच गया है. पूरे 1.3 के उछाल से जी न्यूज 13.5 के साथ नंबर वन पर है. इंडिया टीवी नंबर दो पर है जिसे 1.4 का नुकसान उठाना पड़ा है. आजतक जो नंबर वन हुआ करता था, इस बार तीसरे नंबर पर सरक गया है. चौथे नंबर पर एबीपी न्यूज है और पांचवें पर इंडिया न्यूज. जी न्यूज के नंबर वन होने की वजह सुधीर चौधरी का शो डीएनए है जिसकी टीआरपी सबसे ज्यादा है, लगभग 27 के आसपास. सुधीर चौधरी के साथ-साथ डीएनए शो के प्रोड्यूसर को भी इस सफलता का क्रेडिट दिया जाना चाहिए जो पर्दे के पीछे रहकर पूरे शो की स्क्रिप्टिंग से लेकर कांसेप्ट तक तैयार करता है.

इंडिया टीवी ने आजतक को और इंडिया न्यूज ने न्यूज नेशन को पीटा

35वें हफ्ते की टीआरपी में इंडिया टीवी फिर नंबर वन हो गया. आजतक ने पूरे दो प्वाइंट गोता लगाया और इंडिया टीवी ने एक प्वाइंट की उछाल ली. इस कारण आजतक की कुर्सी खिसक गई. उधर, इंडिया न्यूज ने न्यूज नेशन की बीट कर दिया और इस तरह अपने पांचवें स्थान को फिर से हासिल कर लिया है. एबीपी न्यूज और जी न्यूज यथास्थान हैं. आजतक के यदा कदा इंडिया टीवी से पिछड़ने के बारे में आजतक चैनल से जुड़े सूत्र बताते हैं कि इन दिनों हैथवे के प्लेटफार्म पर आजतक नहीं दिखाया जा रहा है. वजह है सोनी से हैथवे का कोई विवाद. आजतक के डिस्ट्रीव्यूशन का सारा कामकाज सोनी के हवाले है. इस सोनी-हैथवे जंग में आजतक की टीआरपी पर गंभीर असर पड़ रहा है.

टीआरपी के आंकड़े यूं हैं…

IBN7 पिछले साल सबसे तेजी से बढ़ने वाला खबरिया चैनल बना!

टीवी न्यूज चैनलों में गलाकाट प्रतियोगिता के बीच आईबीएन 7 लगातार अपनी स्थिति मजबूत बनाता जा रहा है। पिछले साल जुलाई में नए मैनेजमेंट ने कमान संभाली थी जिसके बाद हालात काफी बेहतर हुए हैं। आंकड़े गवाह हैं कि जुलाई 2015 में चैनेल 4 से 4.5 फीसदी की टीआरपी के साथ बुरी हालात में था जबकि पिछले मौजूदा दौर में आईबीएन7 की टीआरपी लगातार 6 फीसदी से ऊपर बनी हुई है। टीआरपी मीटर पर नजर डाले तो पिछले करीब एक साल में IBN-7 ने तकरीबन 40 फीसदी का उछाल दर्ज किया है जो अपने आप में बाजार में उसकी मजबूत होती स्थिति को बयान कर रहा है। यही नहीं पिछली जुलाई के आसपास IBN-7 न्यूज चैनेल्स की टीआरपी में 10वें नंबर पर हुआ करता था। टीआरपी मीटर में IBN 7 की हैसियत एनडीटीवी से भी कम हुआ करती थी जबकि मौजूदा दौर में IBN-7 सातवें नंबर पर लगातार जमा हुआ है।

न्यूज24 को सबसे ज्यादा फायदा लेकिन टॉप टेन में कोई फेरबदल नहीं

34वें हफ्ते की बार्क की टीआरपी में कोई खास बदलाव नहीं दिख रहा है. सब अपनी अपनी जगह कायम हैं. सबसे ज्यादा टीआरपी वाइज न्यूज24 को हुआ है लेकिन इससे उसे सातवें स्थान से उठकर छठें स्थान आने में सफलता नहीं मिल पाई है. वह इसके पहले वाले हफ्ते भी सातवें पर था और इस हफ्ते भी सातवें पर है. आजतक से लेकर इंडिया टीवी, एबीपी न्यूज, जी न्यूज, इंडिया न्यूज, न्यूज नेशन सबकी टीआरपी में कम या ज्यादा गिरावट आई है, इसके बावजूद सब अपनी अपनी जगह पर कायम हैं.

आजतक, जी न्यूज और इंडिया न्यूज की बल्ले-बल्ले, न्यूज24 और आईबीएन7 के बुरे दिन जारी

33वें हफ्ते की बार्क की टीआरपी के आंकड़े बताते हैं कि आजतक और जी न्यूज को जबरदस्त फायदा पहुंचा है. दोनों ने लगभग डेढ़ अंक अपनी टीआरपी में जोड़कर क्रमश: पहला और चौथा स्थान हासिल कर लिया है.

इंडिया टीवी और आजतक, दोनों ही खुद को बता रहे नंबर वन!

32वें हफ्ते की बार्क की टीआरपी ने नया सीन क्रिएट कर दिया है. आंकड़ों को अपने अपने हिसाब से पेश कर इंडिया टीवी और आजतक दोनों ही खुद को नंबर वन बता रहे हैं.

आजतक और इंडिया टीवी में जंग जारी, इंडिया न्यूज लुढ़का

31वें हफ्ते की बार्क की टीआरपी आंकड़े बताते हैं कि इंडिया टीवी और आजतक के बीच नंबर वन बनने की जंग जारी है. हालांकि पिछले हफ्ते आजतक ने नंबर वन की अपनी गद्दी इंडिया टीवी के फिसलने के कारण हासिल कर ली थी लेकिन इस हफ्ते आजतक और इंडिया टीवी दोनों की टीआरपी लगभग बराबर है. सिर्फ थोड़ी सी बढ़त के कारण आजतक नंबर वन बना हुआ है.

इंडिया टीवी का नंबर वन की कुर्सी पर कब्जा बरकरार, इंडिया न्यूज से फिर पीछे हुआ जी न्यूज, न्यूज नेशन लुढ़कने लगा

पिछले कई हफ्तों से इंडिया टीवी नंबर वन बना हुआ है और यह क्रम जारी है. टीआरपी के ताजा आंकड़े बताते हैं कि आजतक की टीआरपी अच्छी खासी बढ़ने के बावजूद इंडिया टीवी की बढ़त के मुकाबले कमतर होने से आजतक नंबर नंबर दो पर पड़े रहने को मजबूर है. वहीं इंडिया न्यूज ने जी न्यूज को पांचवें नंबर पर ढकेल कर खुद को नंबर चार क्रम का चैनल बना लिया है. न्यूज नेशन लुढ़क कर छठें नंबर पर चला आया है. बुरा हाल आईबीएन7 का है. उमेश उपाध्याय एंड कंपनी के लाख जतन के बावजूद चैनल धूल चाटने को मजबूर है. टीआरपी के आंकड़ें यूं हैं:

इंडिया टीवी का नंबर वन पोजीशन बरकरार, आजतक नंबर दो पर, इंडिया न्यूज नंबर चार पर

28वें हफ्ते की टीआरपी से पता चलता है कि इंडिया टीवी का नंबर वन पोजीशन पर कब्जा बरकरार है. हमेशा नंबर वन रहने वाला आजतक पिछले हफ्ते से लड़खड़ाया है. इस हफ्ते वह नंबर दो पर है. वहीं इंडिया न्यूज ने अच्छी उछाल भरते हुए नंबर चार का पोजीशन कब्जा लिया है. न्यूज नेशन नंबर पांच पर है. जी न्यूज की सबसे बुरी हालत हुई है. यह नंबर छह पर चला गया है. देखें 28वें हफ्ते की टीआरपी…

‘जी न्यूज’ को ‘न्यूज नेशन’ ने भी पछाड़ दिया, सुभाष चंद्रा का चैनल अब छठें नंबर पर

25वें हफ्ते की टीआरपी में सबसे बड़ी बात जी न्यूज का एक पायदान फिर गिरना है. इस तरह गिरते पड़ते यह चैनल नंबर छह पर आ पड़ा है. न्यूज नेशन नंबर पांच पर आ गया है. हालांकि नंबर पांच पर आने में न्यूज नेशन का कम, जी न्यूज का ज्यादा योगदान है. इस हफ्ते सबसे ज्यादा टीआरपी में गिरावट जी न्यूज के ही हुई है. सबसे ज्यादा फायदा अगर किसी चैनल को हुआ है तो वह है ‘तेज’. तेज की स्पीड इतनी तेज है कि यह न्यूज24 से लेकर आईबीएन7 और एनडीटीवी तक को पीछे कर चुका है.

देखें टीआरपी के आंकड़े…

24वें हफ्ते में ‘न्यूज नेशन’ को सबसे ज्यादा फायदा, ‘जी न्यूज’ ने नंबर चार की कुर्सी हासिल की

‘जी न्यूज’ को उसकी नंबर चार की कुर्सी वापस मिल गई है. 24वें हफ्ते के टीआरपी आंकड़ों से पता चलता है कि सबसे ज्यादा अगर किसी को टीआरपी वाइज ग्रोथ मिली है तो वो है ‘न्यूज नेशन’ चैनल. इसने पूरे 1.8 की बढ़त ली है लेकिन तब भी यह ‘इंडिया न्यूज’ से पीछे बना हुआ है. जी न्यूज के नंबर चार पर आने से इंडिया न्यूज नंबर पांच पर भले खिसक गया हो पर वह नंबर छह पर काबिज न्यूज नेशन से आगे बना हुआ है.

‘इंडिया न्यूज’ ने फिर पटका ‘जी न्यूज’ को, विवादित ‘न्यूज नेशन’ बुरी तरह हुआ धड़ाम

23वें हफ्ते की टीआरपी से पता चलता है कि इंडिया न्यूज चैनल काफी मजबूत पोजीशन में पहुंच गया है. यह चैनल जी न्यूज को नंबर चार लगातार खदेड़ने में कामयाब हुआ है. इस हफ्ते भी जी न्यूज नंबर पांच पर है और नंबर चार की कुर्सी इंडिया न्यूज के कब्जे में है. न्यूज नेशन चैनल बुरी तरह धड़ाम हुआ है. उगाही समेत कई किस्म के विवादों में फंसे इस न्यूज चैनल की नैय्या हिचकोले ले रही है. तेज नामक चैनल भी इन दिनों न्यूज नेशन पर भारी पड़ रहा है. कभी यह चौथे नंबर पर पहुंच गया था लेकिन अब सातवें पर आकर सिसक रहा है. न्यूज24 का खराब वक्त चलने लगा है. आईबीएन7 का खराब वक्त लगातार चल रहा है. देखें टीआरपी लिस्ट…

चौधरी साब ने बजा दिया बाजा : छठें नंबर का चैनल हुआ ‘जी न्यूज’

एक अच्छा खासा न्यूज चैनल नए जमाने की धंधेबाज पत्रकारिता की सोहबत में पड़ा और देखते ही देखते पतन के पराकाष्ठा तक पहुंच गया. जिस जी न्यूज चैनल को लोग नंबर वन न्यूज चैनल की तरह ट्रीट करते थे और इसे नंबर वन न्यूज चैनल आजतक का प्रतिद्वंद्वी मानते थे, वह जी न्यूज अब छठें नंबर का न्यूज चैनल बन चुका है. इस सारे पतन के पीछे सिर्फ एक शख्स का नाम लिया जा सकता है और वह हैं सुधीर चौधरी. चौधरी साहब एजेंडा पत्रकारिता यानि सुपारी पत्रकारिता यानि रंगदारी पत्रकारिता के बादशाह माने जाते हैं. कभी जिंदल ग्रुप तो कभी कुमार विश्वास. कभी केजरीवाल तो कभी कोई अन्य.

टीआरपी 21वां सप्ताह : इंडिया टीवी नंबर तीन पर खिसका

21वें सप्ताह की टीआरपी में कई उलटफेर हुए हैं. इंडिया टीवी नंबर दो से खिसक कर नंबर तीन पर पहुंच गया है. कई अन्य चैनलों की स्थिति में भी बदलाव आया है. इंडिया न्यूज इस हफ्ते जी न्यूज से पिछड़ गया है. वहीं पछले हफ्ते तेज चैनल न्यूज नेशन से आगे था. इस बार वो पीछे आ गया और न्यूज नेशन आगे बढ़ गया है…. देखिए टीआरपी के ताजा आंकड़े….

नए टीआरपी सिस्टम में इंडिया न्यूज की धमाकेदार एंट्री, नंबर चार पर काबिज, तेज ने न्यूज नेशन को पछाड़ा

20वें सप्ताह की टीआरपी में कई उलटफेर देख सकते हैं. कुछ हफ्तों से टीवी की टीआरपी TAM की जगह BARC के माध्यम से आ रही है. लेकिन इंडिया न्यूज के BARC रेटिंग सिस्टम में शामिल न होने के कारण BARC द्वारा जारी की जा रही पिछले कुछ हफ्तों की टीआरपी लिस्ट से यह चैनल गायब था. अब जब रेटिंग सिस्टम में यह शामिल हुआ तो जो टीआरपी आई है उसमें इंडिया न्यूज ने नंबर चार की पोजीशन पर कब्जा जमा रखा है.

17वें हफ्ते की टीआरपी : आजतक भारी बढ़त से नंबर वन, इंडिया टीवी बेहद कम अंकों से नंबर तीन

BARC की तरफ से 17वें हफ्ते की टीआरपी जारी कर दी गई है. आजतक भारी बढ़त के साथ नंबर वन बना हुआ है. इंडिया टीवी की बुरी स्थिति कायम है. बेहद कम अंकों के साथ नंबर तीन पायदान पर कायम है. नंबर चार पर मौजूद जी न्यूज से थोड़ा ही अंतर है. इस हफ्ते इंडिया न्यूज टीआरपी का पार्ट नहीं है क्योंकि यह चैनल पिछले हफ्ते ही BARC का पार्ट बना है. अगले हफ्ते से इंडिया न्यूज भी टीआरपी लिस्ट में आ जाएगा. ताजे आंकड़े इस प्रकार हैं….

इंडिया टीवी को पांच नंबर का चैनल बताने पर भड़क गए अजीत अंजुम, निकाली जमकर भड़ास

Ajit Anjum : टीवी रेटिंग को लेकर भ्रम फैलाने वालों के लिए जरुरी सूचना… पहले डाटा देखें… समझें… फिर विश्लेषण करें…. BARC (नया रेटिंग सिस्टम) का डाटा पहली बार आ गया है और तकनीकी खराबी की वजह से पहले तीन दिन और कुछ घंटों के लिए चौथे दिन भी इंडिया टीवी की रेटिंग दर्ज नहीं हो सकी. नतीजा ये हुआ कि तीन दिन तक रेटिंग में इंडिया टीवी जीरो दिख रहा है और चौथे दिन 6.7 फीसदी, जबकि बाकी तीन दिन की रेटिंग में दो दिन इंडिया टीवी नंबर वन भी है, यानी आजतक और एबीपी न्यूज से आगे. कुछ चैनल दावा कर सकते हैं कि इंडिया टीवी पांचवें नंबर पर पहुंच गया है, जो कि गलत और भ्रम फैलाने वाला है. मैं यहां सात दिन के चैनल शेयर का डाटा पोस्ट कर रहा हूं ताकि सनद रहे. शनिवार से शुक्रवार तक का डेली डाटा देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं… बाकी तो जो है सो है ही है…

INDIA TV DATA IS FOR FOUR DAYS (DUE TO SOME WATER MARKING PROBLEM) OTHER CHANNELS DATA FOR ALL 7 DAYS

Wednesday, April 29, 2015 7:51 PM

Source: BARC, Wk 16, 4+, Daywise, Time Band: 0600Hrs to 2359Hrs

आजतक के पत्रकारों को तोड़ने में जुटा इंडिया टीवी, समीप राजगुरु गए

लगातार गिरती टीआरपी से परेशान इंडिया टीवी प्रबंधन अब आजतक न्यूज चैनल में कार्यरत लोगों को तोड़ने में जुट गया है. लंबे समय से स्पोर्ट्स देख रहे आजतक के पत्रकार समीप राजगुरु अब इंडिया टीवी के हिस्से हो गए हैं. इन्हें अच्छे खासे पैकेज पर इंडिया टीवी लाया गया है. सूत्रों के मुताबिक अजीत अंजुम को ‘आपरेशन आजतक’ के लिए लगाया गया है. उन्होंने आजतक के दसियों पत्रकारों से बातचीत की. साथ ही कई अन्य चैनलों के पत्रकारों को भी इंडिया टीवी में लाने के लिए प्रयास कर रहे हैं.

टीआरपी का नया सिस्टम : TAM खत्म, BARC शुरू, 5वें स्थान पर लुढ़का इंडिया टीवी

Vikas Mishra : चलिए कयास लगाने का वक्त खत्म हुआ। दरअसल ये खबर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की टीआरपी नापने की नयी व्यवस्था की है। पहले टैम (TAM) नाम की संस्था, हर हफ्ते टीआरपी देती थी। अब टैम की जगह बार्क (BARC) नाम की एजेंसी ने टीआरपी देनी शुरू की है। पहले हफ्ते की टीआरपी आ गई है। इसके मुताबिक आजतक इस मंच पर भी न सिर्फ नंबर वन न्यूज चैनल है, बल्कि 25 प्रतिशत टीआरपी तो अकेले आजतक की ही है।

देखें टॉप 14 न्यूज चैनलों की टीआरपी लिस्ट… न्यूज नेशन ने जी न्यूज को बहुत पीछे धकेल कर पांचवें नंबर पर ला दिया

इस साल के 16वें हफ्ते की टीआरपी में बड़ा एक उलटफेर देखने को मिल रहा है. न्यूज नेशन ने जी न्यूज को चौथे पायदान से धकेल कर पांचवें पर कर दिया है और जी न्यूज पांचवें स्थान से आगे बढ़ ही नहीं पा रहा. न्यूज नेशन चौथे पायदान पर पहुंच कर भी अपना अंक बढ़ाता जा रहा है. पिछले दो हफ्तों से जी न्यूज नंबर पांच पर है. यानि 14वें हफ्ते से लेकर इस 16वें हफ्ते तक जी न्यूज का नंबर पांच पर रहना बताता है कि इस चैनल ने अपनी विश्वसनीयता तेजी से खोई है. उधर, इंडिया न्यूज ने न्यूज24 को धक्का देकर छठां स्थान कब्जाया हुआ है. सहारा समय और न्यूज एक्सप्रेस चैनल इन दिनों बुरे दौर से गुजर रहे हैं. इनकी टीआरपी सबसे नीचे है. आजतक नंबर वन पर बना हुआ है. एबीपी न्यूज और इंडिया न्यूज में नंबर दो के पद को लेकर फासला काफी कम हुआ है. देखें पूरी लिस्ट…

‘जी न्यूज’ को धराशाई कर ‘न्यूज नेशन’ नंबर चार की कुर्सी पर हुआ काबिज

इस साल के 14वें हफ्ते की टीआरपी में एक बड़ा उठापटक देखने को मिल रहा है. नंबर चार पर मौजूद जी न्यूज अब पांच नंबरी हिंदी न्यूज चैनल बन गया है. नंबर चार पर कब्जा कर लिया है न्यूज नेशन ने. इस नए चैनल ने कुल 1.3 की बढ़त लेकर जी न्यूज को पटका. टीवी टुडे ग्रुप के दो न्यूज चैनलों आजतक और तेज को कभी खुशी कभी ग़म का सामना करना पड़ा है. आजतक नंबर वन पर मौजूद तो है लेकिन 1.3 का नुकसान हुआ है लेकिन इसी ग्रुप के तेज चैनल को 1.3 की बढ़त हुई है. तेज इस बढ़त के कारण आईबीएन7 से फिर आगे निकल गया है. एबीपी न्यूज की भी टीआरपी इस हफ्ते गिरी है. सारे आंकड़े इस प्रकार हैं…

जी न्यूज फायदे में, इंडिया न्यूज को नुकसान

13वें हफ्ते की टीआरपी में सबसे ज्यादा फायदा जी न्यूज को हुआ दिख रहा है और सर्वाधिक नुकसान इंडिया न्यूज ने झेला है. पूरे 1.0 के गोते के कारण इंडिया न्यूज अब न्यूज नेशन से पीछे हो गया है. जी न्यूज 1.4 के फायदे के बावजूद इंडिया टीवी से आगे नहीं निकल पाया है. आजतक नंबर वन की पोजीशन पर रहते हुए भी उपर चढ़ रहा है. उसे 0.6 का फायदा हुआ है. टीआरपा के आंकड़े इस प्रकार हैं….

आजतक उछला, इंडिया टीवी धड़ाम, तेज से पिछड़ा आईबीएन7

12वें हफ्ते की टीआरपी ने इंडिया टीवी और आईबीएन7 को बहुत दुख दिया है. इंडिया टीवी लगातार नंबर तीन पर है और उसकी चाहत अब नंबर एक पर आने की नहीं बल्कि नंबर दो पर पहुंचने की हो गई है. लेकिन दुर्भाग्य देखिए कि इस चैनल पर मोदी का प्रवक्ता बनना इतना भारी पड़ रहा है कि यह तीसरे नंबर पर भी टीआरपी खो रहा है. इस हफ्ते कुल 0.8 की गिरावट इंडिया टीवी की टीआरपी में हुई है. लगता है कि अजीत अंजुम का इस चैनल से जुड़ना भी चैनल को नहीं भा रहा है. यही कारण है कि सभी की हर संभव कोशिशों के बावजूद चैनल का बंटाधार हो रहा है.

सबसे ज्यादा नुकसान के बाद भी ‘आजतक’ बना हुआ है नंबर वन, सर्वाधिक फायदा ‘न्यूज24’ को

11वें हफ्ते की टीआरपी में कोई खास उठापटक नहीं है. सारे राष्ट्रीय हिंदी न्यूज चैनल अपनी-अपनी जगह मौजूद हैं. अगर बात नुकसान और फायदे के अर्थ में करें तो आजतक को सबसे बड़ा लूजर है. पूरे 1.3 के नुकसान के बावजूद यह न्यूज चैनल नंबर वन बना हुआ है. इसकी टीआरपी 17.4 है. नंबर दो पर मौजूद एबीपी न्यूज को भी झटका लगा है, 0.5 का. एबीपी न्यूज 14.5 की टीआरपी के साथ नंबर दो पर कायम है.

‘इंडिया टीवी’ को सर्वाधिक नुकसान, ‘डीडी न्यूज’ तो ‘तेज’ से भी पिछड़ गया, न्यूज नेशन और आईबीएन7 को फायदा

इस साल के दसवें हफ्ते की टीआरपी में सबसे ज्यादा नुकसान इंडिया टीवी को दिख रहा है. पूरे एक अंक गिरकर इस चैनल की टीआरपी 13.4 रह गई है और बहुत तेजी से यह जी न्यूज से भी नीचे गिरने की तैयारी कर रहा है यानि नंबर तीन से नंबर चार पर जाने को उतावला दिख रहा है. ऐसा इस चैनल के मोदी मोह और मोदी मय होने के कारण हुआ है. पूरी तरह से भाजपा और मोदी का प्रवक्ता बन जाने के कारण इंडिया टीवी की साख पर बेहद खराब असर पड़ा है. यही कारण है कि वहां अजीत अंजुम जैसे पत्रकार के होने का भी फायदा चैनल नहीं उठा पा रहा है.

9वें हफ्ते की टीआरपी : इंडिया न्यूज ने न्यूज नेशन को और एनडीटीवी ने आईबीएन7 को पीटा

 

इस साल के नौवें हफ्त की टीआरपी में दो बड़ा उलटफेर देखने को मिल रहा है. दीपक चौरसिया के प्रधान संपादकत्व वाले इंडिया न्यूज चैनल ने न्यूज नेशन चैनल को एक पायदान नीचे धकेल कर खुद नंबर पांच की कुर्सी हासिल कर ली है. न्यूज नेशन अभी तक नंबर पांच पर हुआ करता था लेकिन अब यह नंबर छह पर चला आया है. एनडीटीवी ने आईबीएन7 को पछाड़ दिया है.

आठवें हफ्ते की टीआरपी : सर्वाधिक नुकसान आजतक और एबीपी न्यूज को, आईबीएन7 आगे बढ़ा

इस साल के आठवें हफ्ते की टीआरपी का अगर नुकसान के लिहाज से विश्लेषण किया जाए तो नंबर एक और दो पर विराजमान आजतक व एबीपी न्यूज को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है. आजतक कुल 1.9 अंक गिरा और 17.1 की टीआरपी के साथ नंबर वन पर मौजूद है. एबीपी न्यूज .9 की गिरावट के बावजूद 15.7 की टीआरपी के साथ नंबर दो पर कायम है.

टीआरपी 7वां सप्ताह : इंडिया टीवी और न्यूज नेशन का पतन जारी

इस साल के सातवें हफ्ते की टीआरपी देखने से पता चलता है कि दो न्यूज चैनलों का पतन जारी है. इंडिया टीवी पर मोदी भक्ति का जो लेबल चिपका है, उसके कारण अब इस चैनल की दुर्गति शुरू हो गई है. मोदी से हाल के दिनों में जनता का तेजी से मोहभंग हुआ है और यह मोहभंग मोदी परस्त न्यूज चैनल इंडिया टीवी से भी दिख रहा है. इस हफ्ते टीआरपी के हिसाब से सबसे ज्यादा नुकसान इंडिया टीवी को हुआ है. कुल 1.4 टीआरपी में कमी आई है.

छठें हफ्ते की टीआरपी : सर्वाधिक नुकसान आजतक को, फायदा न्यूज24 को

इस साल के छठें हफ्ते की टीआरपी में सबसे ज्यादा नुकसान आजतक न्यूज चैनल को हुआ है. हालांकि इस नुकसान से इस चैनल के नंबर वन की पोजीशन पर कोई असर नहीं पड़ा है लेकिन यह सिलसिला रुकेगा नहीं तो नंबर वन की कुर्सी भी खतरे में पड़ सकती है. इस हफ्ते आजतक को पूरे 1.5 का नुकसान टीआरपी में है. इससे आजतक अब 18.2 पर है, फिर भी नंबर वन बना हुआ है, क्योंकि नंबर दो पर मौजूद एबीपी न्यूज चैनल को भी इस हफ्ते ठीकठाक नुकसान सहना पड़ा है.

टीआरपी पांचवां सप्ताह : मोदी भक्ति इंडिया टीवी पर भारी पड़ी, एबीपी न्यूज से पिछड़ गया

पांचवें हफ्ते की टीआरपी से यह पता चलता है कि इंडिया टीवी को अब मोदी का प्रवक्ता बनना भारी पड़ने लगा है. लगातार नंबर दो पर रहने वाला यह न्यूज चैनल इस हफ्ते दर्शकों की बेरुखी के कारण नंबर तीन पर चला आया है. एबीपी न्यूज ने शानदार प्रदर्शन करते हुए नंबर दो की कुर्सी हथिया ली है.