गुजरात में छाया ‘ज़ी हिंदुस्तान’, व्यूवरशिप में दस लाख का इजाफा

देश की नई आवाज बन रहा है ‘ज़ी हिन्दुस्तान’. हर रोज नया ट्रेंड सेट कर रहा है ‘ज़ी हिन्दुस्तान’. यह न्यूज चैनल अपनी पंच लाइन ‘स्टेट्स मेक द नेशन’ को साकार करते हुए शहर से लेकर गांव तक की ख़बरों से सराबोर है. ‘ज़ी हिन्दुस्तान’ ने थोड़े ही समय में नेशनल मीडिया के बीच अपना अलग मुकाम बना लिया है. यह एक नया राष्ट्रवादी चैनल है जो राष्ट्र और राष्ट्रीयता की बात करता है.

जी न्यूज की टीआरपी में सबसे ज्यादा वृद्धि, एबीपी न्यूज भी फायदे में

इस साल के 43वें हफ्ते में जी न्यूज की टीआरपी सबसे ज्यादा बढ़ी है. हालांकि इससे चैनल की पोजीशन नंबर तीन ही है क्योंकि नंबर दो पर मौजूद इंडिया टीवी अब भी टीआरपी के मामले में जी न्यूज से पूरे एक अंक आगे है. जी न्यूज के बाद सबसे ज्यादा टीआरपी में ग्रोथ एबीपी न्यूज ने हासिल की है. अब यह चैनल नंबर चार पर आसीन न्यूज18इंडिया से बस चंद कदम ही दूर है. देखें आंकड़े:

आजतक, जी न्यूज और एबीपी न्यूज को लगा झटका, न्यूज नेशन की बल्ले-बल्ले

दिवाली की छुट्टियों के कारण बार्क ने इस साल के 41वें सप्ताह की न्यूज चैनलों की टीआरपी देर में रिलीज की. ताजे आंकड़े बताते हैं कि आजतक, जी न्यूज और एबीपी न्यूज की टीआरपी में गिरवाट आई है. आजतक टीआरपी कम होने के बावजूद नंबर वन पर मौजूद है क्योंकि उसने पहले से ही काफी अंकों से बढ़त ले रखी है जिसके कारण थोड़े-मोड़े घटाव-उतार से कोई नुकसान नहीं होने वाला. उधर, जी न्यूज और एबीपी न्यूज की टीआरपी लगातार गिरने से इन चैनलों में चिंता का माहौल है. 41वें हफ्ते में सबसे ज्यादा फायदे में रहने वाला न्यूज चैनल न्यूज नेशन है. देखिए डाटा…

38वें हफ्ते की टीआरपी : एनडीटीवी वाले इतनी कम टीआरपी पाते हैं, लेकिन ‘भक्तगण’ इससे ही क्यों घबराते हैं?

टीआरपी यानि बाजार का वह ‘यंत्र’ जिससे सबसे ज्यादा देखे जाने वाले चैनलों का पता चल पाता है.. यह ‘यंत्र’ हमेशा एनडीटीवी तो नौवें या दसवें नंबर पर बताता है. इस साल के 38वें हफ्ते की टीआरपी में भी एनडीटीवी 10वें नंबर पर लुढ़का पड़ा है. लेकिन ऐसा क्या है इस चैनल में, जिसके कारण दसवें नंबर पर होने के बावजूद इसकी चर्चा सोशल मीडिया पर हर ओर होती रहती है. खासकर इस चैनल के एंकर रवीश कुमार तो ट्विटर से लेकर फेसबुक तक पर छाए रहते हैं, दुश्मनों और दोस्तों के कारण.

न्यूज24 सबसे ज्यादा फायदे में, एबीपी न्यूज को भारी नुकसान

37वें हफ्ते की टीआरपी में न्यूज24 को सबसे ज्यादा फायदा हुआ है. इस चैनल की टीआरपी सबसे ज्यादा बढ़ी है. वहीं नुकसान के मामले में एबीपी न्यूज को पूरे 1.2 का झटका लगा है. देखें आंकड़े…

‘एबीपी न्यूज’ का धमाका : टीआरपी में 4.7 की वृद्धि हासिल कर ‘आजतक’ को डरा दिया

कई न्यूज चैनलों की टीआरपी 4.7 नहीं होती लेकिन एबीपी न्यूज ने एक ही हफ्ते में अपनी टीआरपी में 4.7 की ग्रोथ लेकर कुल 18.0 टीआरपी के साथ ‘आजतक’ न्यूज चैनल के सिर के पास खड़ा हो गया है. अब आजतक और एबीपी न्यूज के बीच फासला केवल 0.9 का है. जी न्यूज की टीआरपी में गिरावट है लेकिन नंबर तीन पर यह चैनल मौजूद है. इंडिया टीवी की टीआरपी भी काफी गिरी है लेकिन यह भी नंबर चार पर मौजूद है.

एबीपी न्यूज ने जी न्यूज को पीटकर नंबर दो की कुर्सी हासिल की, न्यूज18 इंडिया को सर्वाधिक नुकसान, इंडिया टीवी की टीआरपी बढ़ी

टीआरपी की दौड़ में एबीपी न्यूज चैनल ने जी न्यूज को पछाड़ कर दो नंबर का तमगा हासिल कर लिया. जी न्यूज को नंबर तीन पर संतोष करना पड़ा है. पिछले काफी समय से जी न्यूज नंबर दो बनकर आजतक को चुनौती दे रहा था लेकिन पिछले कुछ हफ्तों में आजतक ने जबरदस्त बढ़त लेकर एक तो जी न्यूज से अपना फासला बढ़ा लिया. दूसरे एबीपी न्यूज ने छलांग लगाते हुए इस बार जी न्यूज को ही धक्का देकर तीन पर गिरा दिया और नंबर दो की कुर्सी पर खुद विराजमान हो गया.

आसमान पर पहुंच गए ‘आजतक’ वाले, ‘जी न्यूज’ का महापतन

सुप्रिय प्रसाद हिंदी न्यूज चैनलों के टीआरपी किंग हैं. टीआरपी के मामले में इस आदमी का कोई जोड़ नहीं है. इंडस्ट्री में दर्जनों संपादक आए और गए लेकिन कोई भी इस टीआरपी किंग का काट न बन पाया. आजतक न्यूज चैनल के हेड सुप्रिय प्रसाद के नए फार्मूलों से आजतक चैनल फिर आसमान पर पहुंच गया है. यानि आजतक ने अपनी नंबर वन वाली कुर्सी को काफी मजबूती दे दी है.

हिंदी के नेशनल न्यूज चैनलों की 32वें हफ्ते की टीआरपी जानें

32वें हफ्ते में भी हिंदी के सभी नेशनल न्यूज चैनलों के बीच आजतक शीर्ष पायदान यानि नंबर एक पर बना हुआ है. डीडी न्यूज बिलकुल आखिरी पायदान पर है यानि सबसे कम टीआरपी वाला चैनल है. जी न्यूज लगातार नंबर दो बना हुआ है. नंबर दो की जगह पहले इंडिया टीवी की हुआ करती थी लेकिन अब इंडिया टीवी को नंबर चार से संतोष करना पड़ रहा है. नंबर तीन पर एबीपी न्यूज का कब्जा है. देखें आंकड़े…

जी न्यूज की टीआरपी गिरी, न्यूज18 इंडिया और इंडिया टीवी हुए मजबूत

इस साल के 31वें हफ्ते के टीआरपी आंकड़े बता रहे हैं कि नंबर दो पर मौजूद जी न्यूज की टीआरपी तेजी से गिरी है. पूरे एक अंक का नुकसान उठाने के बाद जी न्यूज की टीआरपी अब 14.5 रह गई है. हालांकि यह चैनल अब भी नंबर दो पर बना हुआ है. नंबर तीन पर मौजूद एबीपी न्यूज की टीआरपी 13.1 है.

आजतक भयमुक्त हो गया, जी न्यूज डाउन होने लगा, एबीपी न्यूज की लंबी छलांग

इस साल के तीसवें हफ्ते की टीआरपी से आजतक न्यूज चैनल राहत की सांस ले रहा है. जी न्यूज जो बिलकुल सिर तक पहुंच गया था, अब सिकुड़ने लगा है. जी न्यूज की टीआरपी गिरी है और आजतक की बढ़ी है. इससे दोनों के बीच फासला ठीकठाक हो गया है. यानि, आजतक अब पूरी तरह नंबर वन बनकर और जी न्यूज को अपने से काफी अंतर से नंबर दो पर धकेल कर अपना ताज, अपनी नंबर वन की कुर्सी को ‘खतरा मुक्त’ करने में कामयाब हो चुका है.

रजत शर्मा, कार्तिक शर्मा और अनुराधा प्रसाद के न्यूज चैनलों की लंका लगी, जी न्यूज का जलवा बरकरार

रजत शर्मा आजकल काफी परेशान होंगे. उनका इंडिया टीवी चार नंबर पर जो लुढ़का पड़ा है. उनसे ज्यादा परेशान अजीत अंजुम होंगे, जो चैनल के इंप्लाई हैं और मैनेजिंग एडिटर पद पर कार्यरत हैं. आखिर टीआरपी बढ़ने और गिरने दोनों का श्रेय उनको जो जाता है. यही कारण है कि पिछले कई दिनों से यह अफवाह फैली हुई है कि अजीत अंजुम ने इंडिया टीवी से इस्तीफा दे दिया.