बिहारी हो, औकात में रहो नहीं तो रात में उठा ले जाउंगा!

घटना महाराष्‍ट्र के वर्धा स्थित महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय की है। आपसी रिश्‍ते कितने भी अच्‍छे क्‍यों न हों? लेकिन हमेशा रिश्‍तों में दरार क्षेत्र और धर्म के नाम पर देखने को मिलती है। कुछ ऐसा ही मामला महाराष्‍ट्र के वर्धा स्थित महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय में सामने आया है। उक्‍त घटना विवि में अध्‍ययनरत  बिहार के चनद्रभुषण सिंह, एमए सोशल वर्क और धम्‍मवीर भिक्षु, बौद्ध अध्‍यन विभाग की है।

महात्मा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा में पीएचडी और एमफिल प्रवेश परीक्षा में बड़े पैमाने पर धांधली!

संपादक
भड़ास4मीडिया

महात्मा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा में इन दिनों भ्रष्टाचार, धाधली, जातिवाद, क्षेत्रवाद का बोल बाला जोरों पर है. अकादमिक, प्रशासनिक और आर्थिक भ्रष्टाचार का भंडा फोड़ होना ही चाहिए, इसके लिए आपका सक्रिय पत्रकारीय सहयोग अपेक्षित है.