एकता कपूर की तिजोरी ठसाठस हो रही है तो यादव सिंह की तिजोरी खाली होने को है….

: सिंह इज किंग यानि यादव सिंह…. : बड़ा प्यारा नाम है इनका। लेकिन यादव का बाल टेडा करने की हिमाकत कौन कर रहा है. आम जनता में कन्फ्यूजन है. कन्फ्यूजन यादव शब्द को लेकर ज्यादा है. ये नाम एक आदमी का है या एक जाति का. यूपी में कोई फर्क नहीं पड़ता. आदमी हो या जाति. यादव तो यादव है.  कुछ लोग जातपांत की बात नहीं करते. जाति की बात सिर्फ राजनीति के लिए की जाये तो ही अच्छा. लालू भाई और मुलायम दादा उदाहरण हैं. राजनीति के पतित-पावन मचान को मजबूत करने के लिए जाति का खंभ काम आया. तेजप्रताप और राजलक्ष्मी के विवाह की रस्म मचान और खंभ को आपस मे बांधने वाली मजबूत रस्सी बन गई.