A+ A A-

  • Published in टीवी

आजतक न्यूज चैनल पर प्रसारित मुजफ्फरनगर दंगा स्टिंग आपरेशन की जांच के लिए बनी यूपी विधानसभा समिति को योगी सरकार ने भंग कर दिया है. इससे पत्रकार दीपक शर्मा, जिनके नेतृत्व में स्टिंग किया गया था और जिन्हें इसी स्टिंग के कारण आजतक से जाना पड़ा था, ने राहत की सांस ली है. साथ ही आजतक के मालिक अरुण पुरी समेत आधा दर्जन से ज्यादा आजतक के संपादकों-पत्रकारों को भी बार-बार लखनऊ जाने और दंडित होने की आशंका से आजादी मिल गई है.

ज्ञात हो कि इस समिति का गठन तत्कालीन अखिलेश सरकार के पारवफुल मंत्री आजम खान की जिद के चलते किया गया था और उनकी जिद के चलते ही आजतक वालों को बार-बार अपना बयान देने लखनऊ जाना पड़ता था. इस समिति ने लंबे समय तक सुनवाई की और सबकी बात का गौर से गुना. कहा जाता है कि समिति के गठन का मंशा आजतक वालों को सबक सिखाना था. आजम खान की जिद के कारण ही पत्रकार दीपक शर्मा को आजतक से बाहर जाना पड़ा था. मुलायम और अखिलेश के यहां भी इस समिति के कोप से मुक्ति के लिए आजतक वालों ने गुहार लगाई थी लेकिन आजम खान की जिद के चलते उनकी एक न चली.

अब योगी सरकार के आने के बाद आजतक और दीपक शर्मा पर कृपा दृष्टि हो गई और उन्हें दंड मिलने से मुक्ति मिल गई. मुजफ्फरनगर दंगों से जुड़े एक स्टिंग ऑपरेशन की सत्यता की जांच के लिए बनी विधानसभा की कमेटी को भंग करने का प्रस्ताव यूपी विधानसभा में पारित हो गया है. इसके बाद कमेटी अब आगे जांच नहीं कर सकेगी. सात सदस्यीय कमेटी के सभापति सपा नेता सतीश कुमार निगम थे, इसमें सपा के मोहम्मद इरफान और दिलनवाज खान भी शामिल थे. इस कमेटी के भंग किए जाने से सपा नेता आजम खान को झटका लगा है. दरअसल स्टिंग ऑपरेशन के जरिए आजम खान पर कई गंभीर आरोप लगाए गए थे. इसी से चिढ़े आजम खान ने आजतक वालों को सबक सिखाने के लिए समिति का गठन करवाया.

पूरे मामले को समझने के लिए ये भी पढ़ें...

xxx

xxx

xxx

xxx

xxx

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.

People in this conversation

  • Guest - vivek kumar

    मुज़फ़्फ़रनगर दंगे में आज तक के स्टिंग आपरेशन पर सुरेश खन्ना ने कहा कि इस मामले में जांच समिति की रिपोर्ट में आगे कोई कार्यवाही ना की जाये.. सदन ने दी अनुमति.. आजतक को बड़ी राहत.. सदन ने पूर्ण बहुमत से किया पारित

Latest Bhadas