A+ A A-

  • Published in टीवी

Ravish Kumar : कमाल ख़ान की एक रिपोर्ट से हिल गया हूं। यूपी के सीतापुर में कर्ज़ रिकवरी वाले एक किसान के घर गए। रिकवरी एजेंट ने किसान को ट्रैक्टर से ही कुचल कर मार दिया और ट्रैक्टर लेकर फ़रार हो गए। मात्र 65,000 रुपये कर्ज़ था।

ज्ञानचंद ने पांच लाख लोन लेकर ट्रैक्टर ख़रीदा था। अधिकांश चुका दिया था। 65000 ही बाकी था। इसी कर्ज़ को चुकाने के लिए ज्ञान चंद दूसरे की खेत जोत रहे थे। रिकवरी वाले खेत पर गए और ट्रैक्टर छीन लिया। ज्ञानचंद रोकने लगे तो उनके ऊपर ट्रैक्टर चढ़ा दिया। किसान की हड्डियां चूर चूर हो गईं। आइये इस देश के किसानों के लिए कुछ देर मौन रहते हैं। कितना बोलेंगे। किसी को तो फर्क पड़ता नहीं है। किसान सिर्फ जय जवान जय किसान के नारे के लिए याद आता है। इस नारे ने देश के किसानों को मरवा दिया।

एनडीटीवी के चर्चित एंकर रवीश कुमार की एफबी वॉल से.

अब PayTM के जरिए भी भड़ास की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9999330099 पर पेटीएम करें

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.

People in this conversation

  • Guest - sunil kumar

    Aap to roj hilte rahte hain, BJP AUR MODI KI JIT PAR AAP KHUB HILTE HAIN, KISAN KO MAR DENE KI GHATNA HMARE AMANVIYE HOTE SMAJA KA PARICHAYAK HAI, AGAR HAM UNHUMAN HAIN TO YE HAMARE SANSKAR KI KAMI HAI, YADI SAKAR KI GALTI HAI TO SABSE JYADA DINO TAK SATTA ME RAHNE WALI CONGRESS KI SARKARO KI HAI

Latest Bhadas