उपेंद्र राय को सीबीआई ने फिर रिमांड पर लिया, राजेश्वर सिंह को मंत्रालय ने चार्जशीट भेजा

उपेंद्र राय

वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय को सीबीआई ने फिर से पांच दिन की रिमांड पर ले लिया है. ग्यारह जुलाई को उपेंद्र राय की जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान सीबीआई के वकील ने कोर्ट को समझाया कि उपेंद्र राय के पीछे कई बड़ी मछलियां हैं जो संदिग्ध लेन-देन में शामिल हैं. एक जनसेवक को गिरफ्तार किया गया है. यदि राय को जमानत पर रिहा किया जाता है तो वह सबूतों से छेड़छाड़ करके और गवाहों को प्रभावित करके जांच पर असर डाल सकते हैं.

सीबीआई के अनुसार उसने नागर विमानन सुरक्षा ब्यूरो के अधिकारी राहुल राठौड़ और एयर वन एविएशन के सीएमडी आलोक शर्मा को गिरफ्तार किया है.

सीबीआई ने कहा कि उपेंद्र राय को फिर से रिमांड पर लेने की जरूरत है क्योंकि नई गिरफ्तारियां की जा रही हैं. अदालत ने उपेंद्र राय को पांच दिन की रिमांड पर सीबीआई को सौंप दिया. हाईकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई की अगली तारीख सोलह जुलाई तय की है.

ज्ञात हो कि सीबीआई और ईडी कई कई बार उपेंद्र राय को रिमांड पर ले चुकी हैं. जब सीबीआई द्वारा दर्ज मामलों में उपेंद्र राय को जमानत मिली और जेल से छूटे तो ईडी ने जेल गेट पर ही उपेंद्र राय को गिरफ्तार कर लिया.


उधर प्रवर्तन निदेशालय के विवादित और ताकतवर अधिकारी राजेश्वर सिंह के ग्रह नक्षत्र भी ठीक नहीं चल रहे हैं. कहा जाता है कि राजेश्वर सिंह के खिलाफ लगातार मोर्चा खोलने के कारण ही उपेंद्र राय को सुनियोजित तरीके से अरेस्ट कर कई केंद्रीय एजेंसियों को उनके पीछे छोड़ दिया गया है. पर इसी दौरान राजेश्वर सिंह के खिलाफ दागे गए उपेंद्र राय के पुराने गोले फटने लगे.

राजेश्वर सिंह

सुप्रीम कोर्ट ने राजेश्वर सिंह को किसी भी जांच से बचने संबंधी दिए न्यायिक संरक्षण को खत्म कर दिया. राजेश्वर पर लगे आरोपों को कोर्ट ने गंभीर माना और जांच करने का केंद्र सरकार को स्वतंत्र कर दिया. ताजी जानकारी के अऩुसार वित्त मंत्रालय ने राजेश्वर सिंह को चार्जशीट भेजा है.

आठ पेज के इस चार्जशीट में राजस्व सचिव हसमुख अधिया के खिलाफ जानबूझ कर अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप राजेश्वर सिंह पर लगाया गया है. यह चार्जशीट वित्त मंत्रालय की तरफ से राजस्व विभाग ने राजेश्वर को सर्व किया. पत्र में कहा गया है कि राजेश्वर को सरकार के शीर्ष अधिकारी के खिलाफ आधारहीन और दुर्भावनापूर्ण आरोप लगाने के कारण चार्जशीट दिया गया है. पत्र में चेताया गया है कि किसी भी जूनियर अधिकारी की ऐसी किसी हरकत को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह की रिपोर्ट. संपर्क : yashwant@bhadas4media.com

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *