सच्चाई के साथ हूं, जीतेंगे हम लोग : उपेंद्र राय

आज कोर्ट से निकलते उपेंद्र राय

प्रवर्तन निदेशालय ने वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय को आज कोर्ट में पेश किया। पहले सात दिन, फिर पांच दिन की रिमांड पूरी होने के बाद उपेंद्र राय को आज तीसरी बार अदालत में रिमांड की मांग को लेकर पेश किया गया। 

कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय की एक दिन के लिए और रिमांड पर दिए जाने की मांग मान ली। इस बीच अदालत में ले जाते और लाते वक़्त उपेंद्र राय की बातचीत अपने कुछ परिचित लोगों से हुई।

उपेंद्र ने इस दौरान खुलकर तस्वीर भी खिंचवाई। केंद्रीय एजेंसीज की प्रताड़ना और साजिशों का कोई असर उनके चेहरे पर नहीं दिखा।

उपेंद्र ने इस दौरान मौजूद अपने खास लोगों और घर गांव के परिचितों से बातचीत की। खास बात ये थी कि उपेंद्र खुद वहां मौजूद लोगों को हौसला बंधाते दिखे। उन्होंने सभी से परेशान न होने के लिए अनुरोध किया।

उपेंद्र ने बातचीत में कहा कि वे सच्चाई के साथ खड़े हैं इसलिए कोई भी उनका बाल भी बांका नहीं कर सकता। उपेंद्र राय ने कहा कि केंद्रीय एजेंसीज उन्हें निहित स्वार्थ वश प्रताड़ित कर रही हैं। आखिर में जीत सच्चाई की ही होनी है इसलिए कोई भी शुभचिंतक-हितैषी परेशान न हो। जल्द ही दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

इस बीच सूत्रों ने बताया कि उपेंद्र रॉय के करीबी बारह परिचितों को केंद्रीय एजेंसीज ने पूछताछ के लिए बुलाया। इनमें से आधा दर्जन पत्रकार हैं। ये वो लोग हैं जो उपेंद्र राय के मुश्किल वक़्त में खड़े हैं और नियमित पेशी पर उपेंद्र से मिलने जाते हैं।

सूत्रों का कहना है कि एजेंसीज इन सभी परिचितों शुभचिंतकों को पूछताछ के लिए बुलाकर आगे से उपेंद्र रॉय के समर्थन में खुलकर सामने आने को लेकर हिडेन मैसेज देते हुए उनके मनोबल को हतोत्साहित करना चाहती हैं।

बावजूद इसके, उपेंद्र रॉय को चाहने वाले उनके साथ खुलकर खड़े हैं। आज जिस तरह से उपेंद्र रॉय की फोटोग्राफी हुई और उनसे उनके समर्थकों की बातचीत हुई, उससे पता चलता है कि खुद केंद्रीय एजेंसीज उपेंद्र रॉय मामले में अपने कमजोर पक्ष को लेकर बैकफुट पर जाती दिख रही हैं। माना जा रहा है कि उपेंद्र रॉय प्रकरण केंद्रीय एजेंसियों को पिजड़े का तोता कहे जाने के लिए एक और माकूल केस साबित होगा।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *