न्यूज चैनल जनतंत्र में विभिन्न पदों पर वैकेंसी

नोएडा से जल्द शुरू होने वाले नेशनल न्यूज़ चैनल “जनतंत्र” को युवा सहयोगियों की जरूरत है। अनुभवी से लेकर फ्रेशर्स तक आवेदन कर सकते हैं। योग्यता बस इतनी सी है कि आपके अंदर काम करने की ललक और चुनौतियों को स्वीकार करने का जज्बा होना चाहिए। जिन विभागों में योग्य मीडियाकर्मियों की आवश्यकता है वो हैं, आउटपुट, इनपुट, एंकर, असाइनमेंट, पीसीआर/एमसीआर, वीडियो एडिटर, ग्राफिक्स, आईटी और डिजिटल विंग। एंकरिंग और ग्राफिक्स के लिए आवेदन करने वाले अपनी शो-रील भी भेज दें तो बेहतर होगा। इच्छुक अभ्यर्थी अपना सीवी resume.jantantra@gmail.com पर भेज सकते हैं।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “न्यूज चैनल जनतंत्र में विभिन्न पदों पर वैकेंसी

  • I have no experience of work in media ..i want starting of work.i am fresher. I have done M.A. , so can i apply? I want become a reporter and anchor.

    Reply
  • Aapply krne ki last date kb tk ki hi or kya graduation chahiye ye under -graduate wale log bhi apply kr skte hai

    Reply
  • subhash chander says:

    हरियाणा चुनाव से पहले पंचकूला छोड़ सैलरी हड़प कर भागा जनतंत्र टीवी… नोएडा में चैनल के नाम पर हो सकता है फर्जीवाड़ा… आवाज़ आपकी बनने का दावा करने वाला एक चैनल है जनतंत्र टीवी, नाम तो कहीं सुना नहीं, लेकिन कहते हैं कि करीब आठ महीने तक हरियाणा के पंचकूला शहर से चला, अब इस चैनल की लूट कथा सामने आई है, इस चैनल को दिल्ली के एक रियल एसटेट कारोबारी अमिल बैद्य नाम का शख्स चलाता था, शुरु में चैनल के प्रोमो देखकर लगता रहा कि चैनल वाकय में कुछ करेगा. एक के बाद एक प्रोमो और कुछ भरोसेमंद नाम के पत्रकारों के साथ इस चैनल की शुरुआत हुई।
    लेकिन कहते हैं कि जब मन में चोर हो तो भगवान भी आपका क्या भला करेगा, मालिक चैनल चलाने को मजाक समझा, इस चैनल में कुछ विश्वसनीय चैनलों के लोग काम कर रहे थे मालिक ने उनके ऊपर दिल्ली के ठेकेदारों की फौज लाकर लाद दी, हुआ क्या जैसे तैसे कर कंटेट का मजाक बनाया गया। खैर मालिक, कहते हैं कि उन्हें इसका कोई फर्क नहीं पड़ता दिल्ली में अच्छा खासा कारोबार जो है, मालिक ने दिल्ली की एक फौज पर भरोसा किया। चैनल चलते चलते रह गया। एक के बाद एक लोग चैनल को छोड़ते गए, और मालिक कहता गया कि फर्क कहां पड़ता है किसी के जाने से।

    चैनल की बैठक हुई और कहा गया कि एनडीटीवी की तरह सभी कर्मचारियों को चैनल अपने शेयर देगा, और सैलरी में भी इजाफा होगा। अगले ही कुछ दिन में चैनल में फैसला हुआ कि अब हमसे न हो पाएगा, मालिक ने अगले साल हरियाणा में होने वाले चुनाव से पहले ही हथियार डाल दिया, चैनल को दिल्ली ले जाने को कह दिया गया। अगले दिन फिर बोला गया कि चैनल को दिल्ली से नहीं पंचकूला से चलाएंगे, ये बात इसलिए कि कहीं पत्रकारों के मन में ये न रह जाए कि चैनल जा रहा है और भविष्य को देखते हुए कुछ फैसले ले लिए जाएं, इस बात से बचने के लिए मालिक ने झूठ का सहारा लिया और कह दिया कि कर्मचारी भगवान है, शेयर होल्डर्स नहीं चाहेंगे तो चैनल नहीं जाएगा।

    लेकिन कुछ दिन बाद रातों रात पंचकूला से सामान गाड़ी में लादकर नोएडा के सेक्टर-4 में उतारा गया। क्योंकि सेक्टर-4 से ही अब चैनल चलाने का इंतजाम जो किया गया था। आप सोच में पड़ गए होंगे कि रातों- रात क्यों आना पड़ा, मिनिस्ट्री भाग रही थी क्या, अरे भाई बेचारे पत्रकारों की सैलरी जो नहीं देनी थी। डेढ़ महीने की सैलरी डकराने वाली जनतंत्र टीवी में आजकर विज्ञापन निकला है, जिसमें काम में ललक रखने वाले योग्य उम्मीदवारों की नौकरी निकली है, सवाल पूछा जा सकता है कि योग्यता का तो पता नहीं लेकिन भाग कर आ गए हो तो सैलरी भी दोगे या नहीं।

    जब सैलरी देने के पैसे मालिक के पास नहीं है तो चैनल क्यों खोल लिया? पंचकूला में जनतंत्र टीवी के नाम पर खूब लूट खसूट हुई है, जिन लोगों की पहली नौकरी थी उन्हें कहा गया कि आपकी सैलरी से पीएफ भी कट रहा है लेकिन 8 महीने काम कराने के बाद पीएफ तक नहीं दिया, पीएफ तो दूर उसका नंबर तक नहीं दिया। डेढ़ महीने की सैलरी को डकार लिया गया, सुबह जब लोग ऑफिस गए तो वहां ताला लटका था, देश में ऐसा चैनल तो कम से कम कहीं नहीं था, जो अपने कर्मचारियों से बेवफाई करे, आज तक कोई भी चैनल रात को सामान उठाकर भागा है देश में कहीं? अगर नहीं तो नोएडा में नेशनल चैनल जनतंत्र टीवी के नए ऑफिस सेक्टर 4 में जाकर अनुभव जरुर पूछने का कष्ट करें। पत्रकारों और पत्रकारिता पर भरोसा रखने के लिए हजारों भविष्य के जनहित में जारी
    लोगों का पैसा हड़प कर भागा जनतंत्र टीवी
    subhash chander
    livesubhash@gmail.com

    Reply
    • और मालिक साहब का कहना है कि assignment desk reporters की salary खा गया
      भला ये कैसे हो सकता है इन जनाब से कोई पूछे

      बंहाना तो solid ढूंढ़ लिजिए अमित वैद्य जीःःः

      Reply
      • donvip87@gmail.com says:

        सतेंद्र भाटी ने लुट लिया जनंत्त्र टीवी को

        Reply
  • Chor channel hai ye jisko free mai kam karna ho wo jaye yha or free m he kam karna hai to ksyi on air channel m kam kro na k ase channel jo apke pse le k bhag jaye

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *