A+ A A-

  • Published in विविध

कश्मीर और पाकिस्तान मुद्दे पर नरेंद्र मोदी पूरी तरह फेल हो चुके हैं। उनकी नीतियां पानी मांग गई हैं। दरअसल कश्मीर और पाकिस्तान दोनों ही मसले कूटनीति की परिधि से बाहर निकल चुके हैं। इन दोनों का समाधान अब सर्जिकल स्ट्राइक और सैनिक कार्रवाई है, कुछ और नहीं। मोदी कहते रह गए कि पाकिस्तान को अकेला कर दिया, यह कर दिया, वह कर दिया। नतीज़ा यह है कि कुछ नहीं किया। पाकिस्तान आज भी वही कर रहा है जो पहले करता रहा था।

चीन उसका कुंडल और कवच बन कर पूरी ताकत से उपस्थित है। रूस भारत-पाकिस्तान मसले पर तटस्थ है, खामोश है। अमरीकी आर्थिक मदद बदस्तूर जारी है। उस ने सरबजीत को बेमौत मार दिया था, अब कुलभूषण को मारने की तैयारी में है। न दाऊद को पकड़ पाए, न मसूद अजहर आदि को। कश्मीर को और ज़्यादा बरबाद होते और जलते हुए हम देख रहे हैं। नरेंद्र मोदी सरकार के आने पर माना गया था कि अब कश्मीर समस्या सुलझ जाएगी और कि पाकिस्तान सुधर जाएगा।

लेकिन मर्ज बढ़ता गया, ज्यों ज्यों दवा की। डिप्लोमेसी की ऐसी तैसी कर रखी है सो अलग। ऐसे मसले संसद में एकजुट होने और बयान बहादुरी से तय नहीं होते। संसद के हमलावरों का भी क्या कर लिया संसद ने? संसद के शहीदों के परिजनों तक को न्याय नहीं दे सकी यह संसद। संसद में सुषमा स्वराज के पूरे देश का बेटा कह देने भर से बच जाएगा कुलभूषण? हरगिज नहीं। पूरी दुनिया ने कहा था पाकिस्तान से कि जुल्फिकार अली भुट्टो को फांसी मत दो। पाकिस्तान ने भुट्टो को फांसी दे दिया। बामियान में तालिबानों ने बुद्ध की सब से बड़ी मूर्ति दुनिया भर की अपील के बावजूद तोड़ दी। पाकिस्तान से अमरीका मांगता रहा ओसामा बिन लादेन को। पाकिस्तान ने दे दिया था क्या। अमरीका को घुस कर मारना पड़ा था।

पाकिस्तान और कश्मीर की केमेस्ट्री कूटनीति नहीं सैनिक कार्रवाई समझती है, इस बात को अच्छी तरह समझे बिना इन का कोई इलाज नहीं है। आप चिल्लाते रहिए, जिनेवा, शिमला, लाहौर। आदि-इत्यादि। तीन सौ सत्तर फत्तर। शांति वगैरह। इन मूर्खताओं का कोई हासिल नहीं। पाकिस्तान लोकतंत्र से नहीं, सेना और आईएसआई से चलता है। कश्मीर पत्थरबाजी और आतंकवाद से चलता है। सीधी बात है। फ़िलहाल भूल जाईए अब कुलभूषण जाधव को। वह भारत का बेटा है ज़रूर पर भारत उसे अब सलीब से उतार नहीं सकता, वर्तमान कूटनीति से।

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार दयानंद पांडेय की एफबी वॉल से.

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Tagged under dnp,

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.

People in this conversation

  • Guest - vijay patel

    Pandey Ji,
    I read your blog, you are said absolutely right. Kashmir and Pakistan problem's is only one and all solution-Army.

Latest Bhadas