Zee Media के वसूली भाई से त्रस्त हैं एमपी के कांग्रेसी, रिपोर्टर प्रमोद शर्मा पर कांग्रेस नेता ने लगाए गंभीर आरोप

कन्हैया शुक्ला-

Zee मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ में एक रिपोर्टर है जिसका नाम प्रमोद शर्मा है. इस पर Zee से हटाए गए पूर्व सीईओ दिलीप तिवारी की बड़ी कृपा रही है. हो भी क्यों नहीं, मामा–भांजे की रिश्तेदारी जो है ..

पहले ये विदिशा जिले का स्ट्रिंगर था जहां अब ये अपने दोस्त दीपेश शाह के साथ मिल कर ‘रेवेन्यू उगाहो अभियान’ चला रहा हैं .. ये सब मिल के विदिशा में स्थिति मेडिकल नर्सिंग कालेज में पार्टनरशिप में भी हैं …

पूर्व सीईओ दिलीप तिवारी तो अब zee में नहीं हैं पर उसकी पूरी टीम मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ में तैनात है और उसको भरपूर संरक्षण मिल रहा है.

कांग्रेस के नेता राकेश सिंह यादव से खबरों को चलाने का पैसा मांगा गया, जब राकेश यादव ने मना कर दिया तो 2 बार भोपाल में प्रमोद शर्मा ने बुलाया ..कहा कि अगर पैसा नही देंगे तो आपकी क्या कांग्रेस की खबरों को भी नही चलाएंगे ..ऊपर से बदनाम अलग करेंगे ..

फिर इस मामले में नेता राकेश यादव ने अपने बड़े शीर्ष नेताओं तक शिकायत की. यहां तक कि Zee के चेयरमैन सुभाष चंद्रा को टैग करके ट्वीट भी किया ..

मध्यप्रदेश में पूर्वमुख्यमंत्री और कांग्रेस के बड़े नेता कमलनाथ के संबंध सीधा Zee के चेयरमैन सुभाष चंद्रा से हैं ..इसके बावजूद Zee के रिपोर्टर जमीन पर कांग्रेस के लिए काम करने वालों को प्रताड़ित करते हैं ..

देखिए वो ट्विट जो राकेश यादव ने zee के चेयरमैन सुभाष चंद्रा को टैग करके की थी ..

इस मामले में नेता राकेश यादव ने शिकायत नोएडा बैठे zee के वरिष्ठ लोगों से किया और मेल भी भेजा पर इसका असर कुछ भी नहीं हुआ क्योंकि इन वसूलीबाजों के पीछे zee के पूर्व सीईओ का हाथ है और जो खुद अब फिर से Zee में आने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के चक्कर लगा रहा है .. कांग्रेस नेता कमलनाथ के कई करीबियों से संपर्क करके अपने लिए सोर्स तलाश रहा है ..और लगातार कमलनाथ के बंगले पर सोर्स लगवाने के लिए भटक रहा है.. ताकि कमलनाथ zee के चेयरमैन से कह कर इसकी फिर से वापसी करा दें ..

कमलनाथ के बंगले के बाहर भटकते दिलीप तिवारी.

कन्हैया शुक्ला से संपर्क उनके वाट्सअप नम्बर +91 88199 38883 के ज़रिए किया जा सकता है.

भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “Zee Media के वसूली भाई से त्रस्त हैं एमपी के कांग्रेसी, रिपोर्टर प्रमोद शर्मा पर कांग्रेस नेता ने लगाए गंभीर आरोप

  • जय प्रकाश शर्मा says:

    ऐसे पत्तलकारों को संस्थान से तुरंत निकाल देना चाहिए लेकिन इसमें दोष कहीं ना कहीं मठाधीशों का भी होगा जो इनके ऊपर बैठे होंगे….

    Reply
  • Sandeep kesharwani says:

    ज़ी न्यूज़ एक प्रतिष्ठित बैनर है इधर कुछ सालों से चैनल में बदलाव जरूर हुआ है जिस तरीके से ज़ी ने अपना मुकाम बनाया है ईमानदार रिपोर्टर की वहज से लेकर आज ईमानदार जो रिपोर्टर थे उन्हें पिछले 2 साल के अंदर बाहर कर दिया गयाक्योकि वह ईमानदारी से कार्य कर रहे थे, मैं चेयर मैन सुभाष चंद्रा सर से सिर्फ यही कहूंगा कि सर आपकी एक प्रतिष्ठा अलग जिनको लोग आदर्श मानते है सर इस मामले में विचार करे जिन्हें हाल में हटाया गया है कृपया उन्हें के बार ऑफिक बुलाकर उनकी समस्या सुने …क्योकि इन दिनो जिन्हें रखा गया है वह दिन भर वसूली में लगे रहते है ज़ी जैसे प्रतिष्ठित चैनल का नाम लेकर उनकी छवि वैसे फील्ड में बहुत खराब है, और जिन्हें निकाला गया है यह वह रिपोर्टर है जिन्होंने दिन और रात नही देखा अपने कार्यो में लगे रहे….इस लिए आदरणीय सर आपसे उम्मीद करता हूँ कि इस पर विचार करेंगे

    Reply

Leave a Reply to Sandeep kesharwani Cancel reply

Your email address will not be published.

*

code