पाकिस्तान से अपने मायके हिन्दुस्तान में शादी में आने के लिए परेशान है भारत की बेटी

देवरिया, 5 सितम्बर। हिन्दुस्तान और पाकिस्तान के राजनायिक सम्बन्ध चाहे जिस भी तरीके के हों। लेकिन हिन्दुस्तान और पाकिस्तान के लोगों के बीच मिठास बरकरार है। लेकिन  कुछ सरकारी कर्मचारियों की वजह से इस मिठास में कमी आने लगती है। यह कहना है शहाना का। जिसकी बड़ी बहन इस समय पाकिस्तान के करांची शहर में है और वह अपने शौहर के साथ भारत आना चाहती है। लेकिन वीजा के दस्तावेजों की जांच पड़ताल में देवरिया सदर तहसील के कर्मचारियों की मनमानी से शहाना काफी दुखी है। 

शहाना की बड़ी बहन शकीला इस समय वह पाकिस्तान के करांची में अपने शौहर के साथ है। हिन्दुस्तान में मायके में उसके बहनों एवं भाईयों की शादियां है। लेकिन हिन्दुस्तान में बैठे तहसीलदार और देवरिया जिले के हुक्मरान वीजा का वेरीफेकेशन पेपर तैयार करने में हीला हवाली कर रहे है। जिससे हिन्दुस्तान की बेटी का हिन्दुस्तान में आना मुश्किल लग रहा है।  यह आरोप है उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में रहने वाली शहाना का। शुक्रवार की रात को तकरीबन आठ बजे देवरिया के कोतवाली थाना अन्तर्गत अबूबकर नगर की रहने वाली शहाना अपने शौहर अरशद के साथ जिला अधिकारी के आवास पर पहुंची थी। वह अपनी समस्या से जिलाधिकारी को अवगत कराने का प्रयास कर रही थी। लेकिन जिलाधिकारी से बड़ी मशक्कत के बाद उनकी मुलाकात हो पाई। क्योंकि शुरूआत में जिलाधिकारी के चपरासियों ने रात का हवाला देते हुए डांट कर उसे अगले दिन आने को कहा। लेकिन जब वह जिलाधिकारी से मिलने की जिदद करने लगी और रोने लगी तो उन्हें बाद में किसी तरह मिलवाया गया। 

शहाना ने बताया कि सदर तहसील के तहसीलदार प्रमोद सिंह और लेखपाल तथ्का कानूनगो उसकी बहन शकीला जो इस समय पाकिस्तान के करांची शहर में अपने शौहर जमाल मुहम्मद के साथ रह रही है के वीजा पेपर के वेरीफेकेशन के मामले को करीब तीन माह से लटका रखा है। दर्जनो बार तहसीलदार ने बुलाकर काम नहीं किया। इससे दुःखी होकर जिलाधिकारी से शिकायत करने आई है। क्योंकि नवम्बर माह में उसके भाई और बहनों की शादी तय है।  शहाना के शौहर अरशद अहमद ने इस संवाददाता को बताया कि तीन महीने से तहसीलदार और जिला प्रशासन के यहां चक्कर लगाते लगाते वह और उसकी बीबी परेशान हो चुके है। हर जगह उन्हें परेशान किया जा रहा है। थक हार कर वे जिलाधिकारी से शिकायत करने आये है। इस बारे में जिलाधिकारी अनिता श्रीवास्तव ने बताया कि मामले की जानकारी उन्हें आज शाम को मिली है। एस डी एम सदर को कार्य करने हेतु आदेश दे दिया गया है। उन्होने कहा यदि इस मामले में किसी स्तर पर लापरवाही पाई गई तो दोषी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। 

देवरिया से ओपी श्रीवास्तव की रिपोर्ट.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia